घर में रखा है झाड़ू तो भूल कर भी न करें ये एक गलती, वरना घर के पैसे पानी की तरह बह जाएँगे !

झाड़ू तो हर घर में होता है क्योंकि इसका अपना एक महत्व है. झाड़ू घर की गन्दगी को दूर करने के लिए ही नहीं होता. हमारे हन्दू धर्म के अनुसार झाड़ू को लक्ष्मी का रूप माना जाता है. यह घर में हो रहे कचरे को दूर करती है और कचरा दरिद्रता का रूप होता है, जिसका घर में होना ठीक नहीं है. इसलिए इस दरिद्रता को दूर करने के लिए झाड़ू बहुत ही महत्वपूर्ण होता है. हम आपको बता दें की वास्तुशास्त्र में भी इस बात का उल्लेख मिला है कि यह घर की परेशानियों को दूर करने में मददगार होता है. आज हम आपको झाड़ू से जुड़ी कुछ ऐसी ही मान्यताओं के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसका सीधा संबंध व्यक्ति के जीवन पर होता है.

झाड़ू से जुडी मान्यता 

झाड़ू को हमारे ग्रंथों में लक्ष्मी जी का रूप माना जाता है, तभी घर में बड़े कहते हैं की झाड़ू पर पैर लगना अच्छा नहीं होता. यदि झाड़ू पर पैर लग जाए तो घर में धन की हानि हो सकती है.
झाड़ू को हमेशा लोगों की नज़रों से दूर रखना चाहिए क्योंकि वास्तु के अनुसार जिस तरह जैसे हम घर में धन को छुपाकर रखते हैं, उसी तरह झाड़ू को भी घर में एक जगह छुपाकर रखना चाहिए.

झाड़ू को इधर-उधर रखने से धन के आगमन में रूकावट पैदा होती है. इतना ही नहीं इसकी वजह से आपको आर्थिक समस्या का सामना भी करना पड सकता है.झाड़ू को कभी भी सीधा खड़ा नही रखना चाहिए. झाड़ू को ऐसा रखना अपशकुन माना जाता है. इसलिए झाड़ू को हमेशा लेटाकर रखना चाहिए.

अगर आप भी जानते हैं किसी R और S नाम वाले व्यक्ति को तो एक बार जरूर पढ़ें ये खबर !!

सूर्यास्त के बाद घर में झाड़ू नहीं लगाना चाहिए. ऐसा करने से लक्ष्मी नाराज़ होती है, जिसकी वजह से घर में धन की हानि भी हो सकती है.
आप अगर नई झाड़ू लाते हैं तो उसका उपयोग शनिवार के दिन कीजिये.इसके लिए शनिवार का दिन सबसे उत्तम माना जाता है.
कभी भी टूटे हुए झाड़ू का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए ऐसा करना शुभ नहीं होता.
झाड़ू को हमेशा पश्चिम दिशा के कमरे में रखना चाहिए. ऐसा करने से घर में नकारात्मक उर्जा आने की सम्भावना कम होती है.

Loading...

Check Also

Chhath puja: कब, क्यों आैर कैसे मनाया जाता है छठ पर्व, चार दिन चलता है उत्सव

Chhath puja: कब, क्यों आैर कैसे मनाया जाता है छठ पर्व, चार दिन चलता है उत्सव

कब होती है छठ पूजा छठ पूजा का पर्व सूर्य देव की आराधना के लिए …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com