दिग्विजय सिंह ने शिवराजसिंह चौहान से कहा- देशद्रोही बताया है तो 26 को दूंगा गिरफ्तारी

भोपाल: मध्य प्रदेश में ज्यों-ज्यों विधानसभा चुनाव आ रहे हैं, त्यों-त्यों राज्य की सियासत गर्मा रही है. प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा विंध्य क्षेत्र में जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को ‘देशद्रोही’ कहने के मामले ने तूल पकड़ लिया है. पूर्व सीएम दिग्विजय ने मुख्यमंत्री शिवराज को पत्र लिखकर कहा है कि अगर वह (दिग्विजय) देशद्रोही हैं तो उन पर कार्रवाई हो, वह स्वयं 26 जुलाई को भोपाल के टीटी नगर में गिरफ्तारी देने जाएंगे. उन्होंने कहा, ”यदि शिवराज जी ने बिना सबूत मुझ पर इतना बड़ा आरोप लगा दिया तो उन्हें मुझ से सार्वजनिक माफ़ी मांगनी चाहिए. अन्यथा मुझे माननीय अदालत की शरण में जाना पड़ेगा.”दिग्विजय सिंह ने शिवराजसिंह चौहान से कहा- देशद्रोही बताया है तो 26 को दूंगा गिरफ्तारीदिग्विजय सिंह ने शिवराजसिंह चौहान से कहा- देशद्रोही बताया है तो 26 को दूंगा गिरफ्तारी

दिग्विजय ने शनिवार को मुख्यमंत्री चौहान के नाम एक पत्र लिखा है, “आपने मुझ पर देशद्रोही होने का आरोप लगाया है, आप मुख्यमंत्री हैं, इस नाते प्रदेश की सीमाओं में राष्ट्र की एकता और अखंडता को अक्षुण रखना आपका संवैधानिक कर्तव्य है. देशद्रोह गंभीर आरोप है, एक पूर्व मुख्यमंत्री होने के नाते मैं आपसे आग्रह करता हूं कि देशद्रोह की किसी भी घटना को हल्के में न लें.”

अपने दो पृष्ठ के पत्र में दिग्विजय ने आगे लिखा कि उन्होंने संविधान की शपथ ली है, “हो सकता है कि आपको (चौहान) अपनी शपथ के पालन में कोई बाधा आ रही हो, लेकिन मैं इस शपथ का पालन करता हूं. इसलिए भारत माता की एकता और अखंडता की सुरक्षा के लिए मैंने खुद को कानून के हवाले करने का निर्णय लिया है. मैं 26 जुलाई को भोपाल के टीटी नगर थाने में खुद को पुलिस के हवाले करूंगा.”

इतना ही नहीं दिग्विजय ने पत्र के साथ अखबारों की कतरनें भी भेजी हैं. कांग्रेस के सीनियर नेता और पूर्व सीएम दिग्विजय ने ट्वीट किया है, ” माननीय मुख्यमंत्री मप्र शासन शिवराज सिंह जी मुझे ‘देशद्रोही’ मानते हैं. जहां तक मुझे मालूम है मैंने ऐसा कोई कार्य नहीं किया, जिसकी वजह से मेरे विरुद्ध संवैधानिक पद पर विराजमान मुख्य मंत्री जी की नज़रों में मैं ‘देशद्रोही’ की श्रेणी मे आता हूं.

दिग्विजय ने ट्वीट में लिखा, ” फिर भी हो सकता है कि मुझ पर इतना गंभीर आरोप लगाने के लिए उनके पास पुख़्ता सबूत होंगे अन्यथा वे मुझ पर इतना गंभीर आरोप नहीं लगाते”. उन्होंने कहा, ” मैं एक ज़िम्मेदार नागरिक के रूप में अपने आप को 26 /07/2018 को भोपाल के टीटी नगर थाने में प्रस्तुत करूंगा ताकि सबूतों के आधार पर मप्र शासन मुझे गिरफ़्तार कर सख़्त से सख़्त सज़ा दिलवाए”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बसपा ने भी तोड़ा नाता, राहुल की एक और सियासी चूक, बीजेपी के लिए संजीवनी

बसपा अध्यक्ष मायावती ने कांग्रेस की बजाय अजीत जोगी के