बड़ी खुशखबरी: डीजल हुआ 1 रुपये सस्ता, जानें पेट्रोल में कितनी आई गिरावट

पेट्रोल-डीजल पर केंद्र और राज्य सरकारों से आपको भले ही राहत न मिली हो, लेक‍िन कच्चे तेल ने आपके लिए यह काम कर दिया है. कच्चे तेल की कीमतों में लगातार आ रही कमी के चलते पेट्रोल और डीजल के दाम में कटौती हो रही है.

7 फरवरी से लेकर अब तक डीजल की कीमतों में 1.02 रुपये प्रति लीटर की कमी आ चुकी है. शुक्रवार को दिल्ली में एक लीटर डीजल  63.02 रुपये प्रति लीटर मिल रहा था.

वहीं, पेट्रोल की बात करें, तो इसकी भी कीमतों में कटौती हुई है. हालांकि डीजल के मुकाबले यह काफी कम है. 7 फरवरी से लेकर अब तक पेट्रोल की कीमतों में 85 पैसे की गिरावट आई है. शुक्रवार को दिल्ली में एक लीटर पेट्रोल की कीमत  72.52 रुपये प्रति लीटर पहुंच गई है.

आप नेता संजय सिंह को अनिल अंबानी ने भेजा 5000 करोड़ का मानहानि नोटिस

हालांकि मुंबई में पेट्रोल अभी भी 80 रुपये के ऊपर बना हुआ है. शुक्रवार को यहां एक लीटर पेट्रोल के लिए आपको 80.39 रुपये चुकाने पड़ रहे हैं. पेट्रोल और डीजल की कीमतों में यह गिरावट पिछले 10 दिनों के भीतर आई है.

इस वजह से घट रही कीमतें : पेट्रोल और डीजल की कीमतों में लगातार आ रही कमी के लिए कच्चे तेल की कीमतों में आ रही नरमी जिम्मेदार है. शुक्रवार को बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड ऑयल की कीमतें स्थिर बनी रही. शुक्रवार को इसका भाव 64.33 डॉलर प्रति बैरल रहा.

बता दें कि पिछले साल अक्टूबर से लगातार कच्चे तेल की कीमतों में बढ़ोतरी हो रही थी. इसकी वजह से पेट्रोल की कीमतें 81 रुपये प्रति लीटर के पार चली गई थीं. इसके अलावा डीजल की कीमत भी 67 रुपये के पार पहुंच गई थी.

पेट्रोल और डीजल की कीमतों में लगातार आ रही इस बढ़ोतरी की वजह से मांग उठ रही थी कि जीएसटी परिषद इसे जीएसटी के दायरे में लाए. हालांक‍ि इसको लेकर कोई फैसला नहीं हो सका.

व‍ित्त मंत्री अरुण जेटली ने इस दौरान बताया कि फिलहाल पेट्रोल और डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने के लिए सभी राज्य राजी नहीं हैं. उन्होंने उम्मीद जताई थी कि भव‍िष्य में सभी राज्य इसके लिए राजी होंगे और पेट्रोल-डीजल को इसके दायरे में लाया जा सकेगा.

 
 
 

 

You may also like

शक है कि राहुल गांधी रबी, खरीफ की फसल का समय जानते होंगे: अमित शाह

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने मंगलवार को राहुल