महंगाई बढ़ी, फिर भी दिल्ली-मुंबई दुनिया के सबसे सस्ते शहर

- in Mainslide, राष्ट्रीय

देश के तीन शहर दिल्ली, बेंगलुरु, मुंबई और चेन्नई दुनिया के सबसे सस्ते शहरों में शामिल किए गए हैं. इकोनॉमिस्ट इंटेलीजेंस यूनिट (ईआईयू) के सर्वेक्षण में यह बात सामने आई है. इसमें सिंगापुर अपने सबसे महंगे शहर होने की रैंकिंग को बरकरार रखा है. आइए जानते हैं 

वैश्विक जीवनयापन लागत पर आधारित सर्वेक्षण 2018 के मुताबिक दक्षिण एशियाई शहरों में भारत और पाकिस्तान उचित मूल्य में बेहतर पेशकश करते हैं.

भारत का GST दुनिया में सबसे जटिल टैक्स प्रणाली: विश्व बैंक

लिस्ट की रैंकिंग के हिसाब से मुंबई से कुछ सस्ता दिल्ली, उससे भी सस्ता चेन्नई और इन चारों शहरों में सबसे अधिक सस्ता बंगलोर है. 

रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में काफी तेजी से अर्थव्यवस्था का विस्तार हो रहा है लेकिन वेतन और खर्च में वृद्धि अभी भी कमजोर बनी हुई है. आय असामनता का अर्थ है कि कम पारिश्रमिक मानक बना हुआ है.

आज भी घर खर्च चलाने के लिए यहां लोगों को काफी जद्दोजहद करनी पड़ती है. बावजूद दिल्ली-मुंबई सबसे सस्ते शहर बने हुए हैं.

इसके अलावा, पश्चिमी देशों की तुलना में यहां ग्रामीण क्षेत्रों से शहरी इलाकों में कम दाम पर और भरपूर मात्रा वस्तुओं की आपूर्ति के साथ कुछ सामानों पर सरकारी सब्सिडी भी वस्तुओं के दाम बढ़ने से रोकते हैं. 

सीरिया की राजधानी दमिश्क दुनिया का सबसे सस्ता शहर बताया गया है. दमिश्क के बाद दूसरे स्थान पर वेनेजुएला की राजधानी काराकस और कजाकिस्तान का व्यापारिक केंद्र अलमाती तीसरे स्थान पर है.

दुनिया के अन्य शीर्ष दस सस्ते शहरों में लागोस चौथे स्थान पर, बेंगलुरु (पांचवें),  कराची (छठवें),  अल्जीयर्स (सातवें),  चेन्नई (आठवें), बुखारेस्ट (9वें) और  दिल्ली (दसवें) स्थान पर है.

वहीं, सिंगापुर को लगातार पांचवें साल दुनिया के सबसे महंगे शहर का खिताब मिला है. दूसरे स्थान पर पेरिस, तीसरे में ज्यूरिख और चौथे पर हांगकांग है.

 
 
 
 
 

You may also like

सड़क पर चलना हो जाएगा महंगा, पेट्रोल के बाद 14% तक चढ़ सकते हैं CNG के दाम!

सड़क पर चलने वालों के लिए बुरी खबर है.