सरकार ने एएमयू के छात्रसंघ पर छोड़ा जिन्ना की तस्वीर हटाने पर फैसला

पाकिस्तान आज अपना स्वतंत्रता दिवस मना रहा है. इस मौके पर पाकिस्तान अपने कायदे आज़म मोहम्मद अली जिन्ना को भी याद कर रहा है. ये वो ही जिन्ना हैं जिनकी तस्वीर को लेकर पिछले दिनों खासा बवाल हुआ था. अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्वालय (एएमयू) के छात्रसंघ यूनियन हाल में मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर लगी हुई है.सरकार ने एएमयू के छात्रसंघ पर छोड़ा जिन्ना की तस्वीर हटाने पर फैसला

अलीगढ़ के बीजेपी सांसद सतीश गौत्तम ने एएमयू के वीसी को चिठ्ठी लिखकर तस्वीर हटाने की आवाज़ उठाई थी. इस मामले पर देशभर में खूब हंगामा हुआ था. लेकिन अभी तक एएमयू में मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर लगी हुई है. इस बारे में बीजेपी के सांसद अश्वनी कुमार ने लोकसभा में जिन्ना की तस्वीर के संबंध में एक सवाल पूछा था.

उन्होंने सवाल उठाते हुए पूछा था कि क्या एएमयू में जिन्ना की तस्वीर को हटाने के लिए कोई मांग पत्र मिला है. सरकार ने इस संबंध में क्या कदम उठाए हैं. क्या सरकार भारतीयों की भावनाओं को आहत कर रहे इस मामले में कोई पहल करेगी. और उन्होंने ये भी पूछा था कि क्या सरकार एएमयू छात्रसंघ से जिन्ना की आजीवन सदस्यता समाप्त करेगी.

इस बारे में जवाब देते हुए मानव संसाधन विकास राज्यमंत्री डॉ. सत्यपाल सिंह का कहना है कि इस बारे में उन्हें एएमयू ने बताया है कि एक सांसद ने तस्वीर हटाने के मामले पर चिठ्ठी लिखी है. एएमयू ने ये भी कहा है कि छात्रसंघ को भंग कर दिया गया है. और तस्वीर हटाने के मामले में कोई भी फैसला नए बनने वाले छात्रसंघ द्वारा लिया जाएगा. एएमयू छात्रसंघ से जिन्ना की आजीवन सदस्यता समाप्त करने के सवाल पर डॉ सत्यपाल का कहना है कि इस मामले में तो सवाल ही नहीं उठता है.जिन्ना की तस्वीर के संबंध में लोकसभा में कोई सवाल उठा है इसकी मुझे कोई जानकारी नहीं है. लेकिन जिन्ना की तस्वीर हटाने का फैसला वीसी लेंगे. छात्रसंघ का इससे कोई मतलब नहीं है. बच्चे तो यहां पढ़ने आते हैं. इस बारे में मैं 15 अगस्त को एएमयू प्रशासन से मिलने जा रहा हूं.

सतीश गौत्तम, सांसद, बीजेपी, अलीगढ़ 

बीजेपी अपनी सरकार और सांसद सतीश गौत्तम टिकट बचाने के लिए इस तरह के मुद्दे उठा रहे हैं. अगर सरकार जिन्ना की तस्वीर को हटाना चाहती है तो एक पत्र जारी कर तस्वीर हटाने के निर्देश दे सकती है. और तस्वीर सिर्फ एएमयू से ही क्यों मुम्बई के जिन्ना हाउस, मुम्बई के हाईकोर्ट और नेहरू म्यूजियम से भी जिन्ना की तस्वीर हटाई जाए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

पेट्रोलियम कंपनियों ने की 100 रुपये लीटर पेट्रोल बेचने की तैयारी, जाने ऐसा क्यों?

अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में उछाल आने