दिल्ली-NCR में बारिश का कहर: सड़क धंसने से 80 फ्लैटों पर मंडरा रहा है खतरा

- in दिल्ली, राज्य

नई दिल्ली। दिल्ली-एनसीआर में हो रही बारिश का कहर विभिन्न इलाकों में देखने को मिल रहा है। ग्रेटर नोएडा में तीन मंजिला इमारत गिर गई, तो गाजियाबाद के अशोक वाटिका इलाके में मकान ढह गया। वहीं, दिल्ली से वसुंधरा इलाके से इससे भी बुरी खबर आ रही है। यहां पर सड़क धंस गई है, जिससे कई फ्लैटों पर खतरा मंडरा रहा है। दिल्ली-NCR में बारिश का कहर: सड़क धंसने से 80 फ्लैटों पर मंडरा रहा है खतरा

वसुंधरा में धसी रोड, खाली कराए गए फ्लैट

वसुंधरा 4सी स्थित वार्ता लोक अपार्टमेंट के सामने गुरुवार सुबह बारिश से दो जगह रोड धंस गई। इसके बाद आननफानन में दो अपार्टमेंट के 80 फ्लैटों को खाली कराया गया है। एनडीआरएफ, सिविल डिफेंस, पुलिस फायर विभाग व प्रशासन की टीम मौके पर राहत कार्य में जुटीं हैं।

स्थानीय लोगों के मुताबिक, पांच वर्ष पूर्व एक बिल्डर ने वार्ता लोक अपार्टमेंट के सामने दूसरा अपार्टमेंट बनाने के लिए करीब 50 फीट गहरा गड्ढा खोदा था, जिसमें अपार्टमेंट के पार्किंग बनाई जानी थी। लेकिन विवाद के चलते प्रोजेक्ट रुक गया। गुरुवार सुबह बारिश के बाद सड़क के नीचे की मिट्टी खिसककर अपार्टमेंट के लिए खोदे गए गड्ढे में खिसक गई, जिसकी वजह से सड़क करीब 50 फीट नीचे धंस गई।

80 फ्लैट खाली कराए गए

सड़क धंसने के बाद हादसे को देखते हुए प्रशासन ने वार्ता लोक के चार बिल्डिंग से 64 फ्लैट और प्रज्ञा कुंज अपार्टमेंट से एक बिल्डिंग के 16 फ्लैट को खाली करवाया गया। अपार्टमेंट बनाने के लिए खोदे गए गड्ढे के चारों और अपार्टमेंट बने हुए हैं, जिनमें मेवाड बिल्डिंग बार शिव गंगा अपार्टमेंट भी शामिल है। हादसे के बाद अन्य अपार्टमेंट के लोग भी दहशत में है।

ग्रेटर नोएडा में 3 मंजिला बिल्डिंग ढही

वहीं, सूरजपुर कोतवाली क्षेत्र के मुबारकपुर गांव में तीन मंजिला इमारत गिर गई, जिससे तीन लोग मलबे में दबने से बाल बाल बच गए। समय रहते हुए मकान से तीनों लोगों को बाहर निकाल लिया गया। गुरुवार की सुबह बारिश के कारण ग्रेटर नोएडा सूरजपुर के पास मुबारकपुर गांव में ईमारत पूरी तरह से धराशाई हो गई। पीड़ित ओमपाल अपने परिवार के साथ मकान में रहते हैं। उनका कहना है कि ईमारत के पास बन रही कंपनी ने गड्ढा किया हुआ है, जिसमें पानी भरने से मकान की दीवार रोज़ कमजोर हो रही थी और गुरुवार को गिर गई। 

तत्काल प्रभाव से आसपास के लोगों ने ओमपाल के परिवार को सकुशल बाहर निकाल लिया उसके चंद मिनटों बाद ही तीन मंजिला इमारत ताश के पत्तों की तरह देखते ही देखते जमीन में बिखर गई। हालांकि इस घटना में कोई हताहत नहीं हुआ है। पुलिस और प्रशासन के आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं और गांव के लोग घर से सामान निकालने के कार्य में लगे हुए हैं। पुलिस के मुताबिक कोई हताहत नहीं हुआ है। पिछले कुछ दिनों से गाजियाबाद और ग्रेटर नोएडा में बिल्डिंग गिरने के मामले सामने आ चुके हैं। ग्रेटर नोएडा में हुए हादसे में 9 और गाजियाबाद में हुए हादसे में एक व्यक्ति की मौत हो गई थी।

वहीं दूसरी तरफ साहिबाबाद इलाके की अशोक वाटिका कॉलोनी में एक मकान का आधा हिस्सा गिर गया। गनीमत ये रही कि इन हादसों में किसी के हताहत होने की अभी तक कोई खबर नहीं है। इसके अलावा, नोएडा के सेक्टर-71 में निर्माणाधीन अस्पताल की दीवार गिरी। हालांकि, इसमें कोई घायल नहीं हुआ, मलबा हटाने का काम शुरू कर दिया गया है।

बताया जा रहा है कि दिल्ली-एनसीआर में 100 से अधिक सड़कों पर जलभराव से जाम लगा हुआ है, वाहन रेंग-रेंगकर चलने के लिए मजबूर हैं। मौसम विभाग ने गुरुवार को दिनभर रुक-रुककर बारिश होने का अनुमान जताया है। सुबह 6 बजे से हो रही बारिश से सड़कों के किनारे खड़ी कारें आधे पानी में डूबी नजर आईं। जानकारी के मुताबिक, देश की राजधानी दिल्ली के साथ गुरुग्राम, नोएडा, गाजियाबाद, फरीदाबाद और साहिबाबाद में गुरुवार को सुबह तेज बारिश से लोगों को उमस भरी गर्मी से तो काफी राहत मिली, लेकिन जगह-जगह ट्रैफिक जाम से खासी दिक्कतों का सामना भी करना पड़ रहा है।

भारी बारिश के चलते नोएडा, गुरुग्राम, फरीदाबाद, ग्रेटर नोएडा में सड़कों पर कई  फीट पानी भर गया है तो वहीं सड़कों पर जलभराव ने दिल्ली नगर निगम और दिल्ली सरकार के दावों की भी पोल खोल कर रख दी है। आईटीओ, आश्रम, आनंद विहार, लाजपतनगर के अलावा, नोएडा के कालिंदी कुंज, महामाया फ्लाइओवर, चिल्ला बॉर्डर इलाकों सड़कों पर पानी भरा है। 

दिल्ली से सटे गाजियाबाद में वसुंधरा सेक्टर-4 वार्ता लोक सोसायटी के निकट बनी सड़क भारी बारिश के चलते अचानक धंस गई। इससे वहां की गंगा जल आपूर्ति लाइन भी टूट गई। सड़क पर तेज पानी बह रहा है, स्थानीय लोगों ने पुलिस, दमकल और नगर निगम को सूचना दे दी है। जल्द ही सुधार कार्य चालू होने की उम्मीद। इस हादसे से आसपास के लोग डरे हुए हैं।

सड़कों पर पानी भरने से कई गाड़ियों में पानी भरने से बंद हो गई हैं, वही सुबह दफ्तरों के लिए लोगों को भी जलभराव से भारी परेशानी हो रही है।  नोएडा सेक्टर-6 स्थित नोएडा प्राधिकरण कार्यालय के बाहर बारिश का पानी इस कदर जमा हो गया कि लोगों को यहां तक पहुंचने में दिक्कतों का सामना करना पड़ा। जानकारी मिल रही है कि कश्‍मीरी गेट, द्वारका, धौला कुआं और मूलचंद फ्लाइओवर समेत कई अन्‍य इलाकों में भी भीषण जाम लगा हुआ है। बारिश से दिल्‍ली से सटे गुरुग्राम में भी एक बार फिर जबरदस्‍त जाम देखने को मिला। यहां पर बता दें कि जुलाई, 2016 में जोरदार बारिश के बाद गुरुग्राम में 12 घंटों का लंबा जाम लग गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

यूपी: बहराइच में अब तक 70 से अधिक बच्चों की मौत, देखने पहुंचे डॉ. कफील खान अरेस्ट

उत्तर प्रदेश के बहराइच में संक्रमण के साथ