पंजाब में प्रधानमंत्री आवास योजना का लोन दिलाने के नाम पर करोड़ों की ठगी

बठिंडा। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत छह लाख रुपये का कर्ज दिलाने के नाम पर हजारों महिलाओं के साथ अभी तक करोड़ों रुपये की धोखाधड़ी का पर्दाफाश हुआ है। लोगों से हो रही इस ठगी का खुलासा जागरण के पत्रकार के साहस से हुआ। पत्रकार ने जब महिलाओं के एक जगह इकट्ठा होने पर वहां जाकर मामले की पड़ताल की तो अपनी जालसाधी का पर्दाफाश होते देख आरोपित दंपती और उनकी बेटी ने हमला कर दिया। पत्रकार का मोबाइल छीन कर उससे मारपीट करना शुरू कर दिया।पंजाब में प्रधानमंत्री आवास योजना का लोन दिलाने के नाम पर करोड़ों की ठगी

पोल खुलती देख हमला कर किया घायल, बेटी सहित दंपती काबू

घटना का पुलिस को पता चला तो पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। पत्रकार ने पुलिस को बताया कि यहां प्रधानमंत्री आवास योजना के नाम पर ग्रामीण क्षेत्र से आई महिलाओं से पैसे वसूले जा रहे हैं। ये लोग कौन हैं , किस विभाग से हैं, इन्हें कहां से अनुमति मिली है कुछ भी इनके पास नहीं है। बस स्टैंड चौकी पुलिस ने दंपती और उसकी बेटी के खिलाफ मारपीट और धोखाधड़ी का केस दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

बठिंडा के रहने वाले एक व्‍यक्ति, उसकी पत्नी तथा बेटी ने लघु सचिवालय रोड पर लंबे समय से दफ्तर खोल रखा है। जहां वे लोगों को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत छह लाख रुपये का कर्ज दिलाने का दावा करते हैं। पंजीकरण कराने के लिए आने वाली महिलाओं से उसके बदले में दो सौ से चार सौ रुपये फीस ली जा रही है। बठिंडा के अलावा मानसा, फरीदकोट, श्री मुक्तसर साहिब, बरनाला, संगरूर, भीखी, सुनाम तथा डबवाली से आई सैंकड़ों महिलाएं हर रोज वहां पैसे जमा करा रही हैं।

जहां पैसे जमा करने के साथ उनके आधार कार्ड की असल कॉपी भी रखी जा रही है। आरोपितों का दावा है कि प्रधानमंत्री कार्यालय ने उन्हें कर्ज दिलाने के लिए मंजूरी दे रखी है। जबकि वास्तव में आज तक किसी को कर्ज नहीं दिया गया। जिसके चलते बुधवार सुबह सैंकड़ों की संख्या में महिलाएं वहां पहुंच गईं। मानसा के सरदूलगढ़ तथा बरनाला से आई उक्त महिलाएं कर्ज या फिर उनकी रजिस्ट्रेशन फीस के पैसे वापस करने के लिए हंगामा कर रहीं थी।

दैनिक जागरण पत्रकार भी वहां कवरेज के लिए पहुंच गया। उसने जैसे ही अपने मोबाइल से फोटो लेना शुरू किया, अंदर से बाहर आए दंपती, उनकी बेटी और कुछ अज्ञात लोगों ने उस पर हमला कर दिया। बठिंडा के मिनी सचिवालय रोड स्थित एक दुकान में लोगों के हंगामे के बाद आरोपित महिला व उसकी बेटी को हिरासत में लिया। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

जवानों की हत्या को लेकर केजरीवाल ने PM मोदी से मांगा जवाब

बीएसएफ जवान नरेंद्र सिंह की शहादत के बाद