बिहार में सीपीआइएम कार्यकर्ताओं ने जन समस्या के निदान की मांग को लेकर किया धरना प्रदर्शन

दरभंगा। सीपीआइएम कार्यकर्ताओं ने जन समस्या के निदान की मांग को लेकर एक दिवसीय धरना प्रदर्शन किया। इस दौरान केंद्र व राज्य सरकार के खिलाफ आक्रोश व्यक्त कर मंहगाई व भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने का प्रस्ताव रखा गया। दस सूत्री मांग को लेकर आयोजित कार्यक्रम में खेमस जिला कमेटी सदस्य महेश दुबे ने कहा कि स्थानीय प्रशासन भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई नहीं करती है तो उग्र आंदोलन होगा।बिहार में सीपीआइएम कार्यकर्ताओं ने जन समस्या के निदान की मांग को लेकर किया धरना प्रदर्शन

मंहगाई व बेरोजगारी से त्रस्त जनता को केंद्र व राज्य सरकार गुमराह कर रही है। पेट्रोल व डीजल के बढ़ रहे दाम के कारण गरीबों को आर्थिक तंगी से गुजरना पड़ रहा है। किसान सभा के जिला अध्यक्ष सुधीर कांत मिश्र ने कहा कि भाजपा सामाजिक संरचना को बिगाड़ कर देश व राज्य में भय का माहौल उत्पन्न करना चाहती है।

खेत मजदूर यूनियन के नेता दिलीप भगत ने कहा कि सरकार की जनकल्याणकारी योजना फाइलों में सिमटती जा रही है। अंचल मंत्री कामनी देवी की अध्यक्षता व सदस्य लालबाबू पासवान के संचालन में आयोजित कार्यक्रम में शौचालय की राशि का भुगतान, पेयजल संकट, वंचित को बाढ़ राहत, मनरेगा में अनियमिता, बंद नलकूप को चालू करने पर विचार किया गया। वहीं, मध्य प्रदेश के मंदसौर में 6 किसानों की हत्या के प्रथम शहादत दिवस पर श्रद्धांजलि अर्पित की गई। मौके पर गणेश ठाकुर, पैक्स अध्यक्ष अनिल महाराज, अशोक साफी, अधिवक्ता सत्येन्द्र पांडेय, राम विलास पासवान, सुमित्रा देवी, महासुंदरी देवी आदि मौजूद थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

उत्तराखंड: जल्द निकाय चुनाव के लिए सरकार पर दबाव बना रही कांग्रेस

देहरादून: विधानसभा का मानसून सत्र निपटने के बाद