गिरफ्तार हुआ कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका की बेटी को रेप की धमकी वाला ट्विटर ट्रोल

- in राष्ट्रीय

कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी को ट्वविटर पर गाली और धमकी देने के मामले में पुलिस ने गुजरात के अहमदाबाद से गिरीश नाम के एक शख्स को गिरफ्तार किया है. मुंबई और दिल्ली पुलिस को गिरिश की तलाश थी. दो जुलाई को प्रियंका चतुर्वेदी ने मुंबई के गोरेगांव थाने में धमकी के संबंध में शिकायत दर्ज कराई थी. शिकायत के मुताबिक, एटगिरीशके1605 नाम के ट्विटर हैंडल से उनकी बेटी को रेप करने की धमकी दी गई. ट्विटर हैंडल पर जय श्री राम भी लिखा गया था. शिकायत के आधार पर पॉस्को एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया.

प्रियंका ने ट्वीट कर कहा था, ‘‘भगवान राम के नाम से ट्विटर हैंडल चलाकर, पहले तो मेरा गलत बयान लगाते हो, फिर मेरी बेटी के बारे में अभद्र टिप्पणी करते हो. कुछ शर्म हो तो चुल्लू भर पानी में डूब मरो, वरना भगवान राम ही इसका सबक सिखाएंगे तुम जैसे नीच सोच वाले इंसान को. मुंबई पुलिस को इसके खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए.”

प्रियंका की शिकायत के बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय भी एक्शन में आया. गृह मंत्रालय ने तीन जुलाई को कहा था, “ट्विटर के जरिए कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी को दी गई धमकी के मामले में केंद्रीय गृह मंत्रालय ने मुंबई पुलिस को मामला दर्ज करने का निर्देश दिया है. पुलिस से कहा गया है कि पुलिस उस व्यक्ति की पहचान कर कानूनी कार्रवाई करे.”

SC का यूनिटेक को आदेश, खरीददारों के पैसे लौटाने के लिए बेचे 618 एकड़ जमीन

प्रियंका की शिकायत और भारी विरोध के बाद गिरिश ने ट्वीट डीलिट कर दिया था. आपको बता दें कि सोशल मीडिया पर ट्रोल गैंग सक्रिय है. जो विरोध में उठने वाली हर आवाज को दबाने के लिए भद्दी गालियां और धमकी देता है. ट्रोल के निशाने पर नेता, पत्रकार और बुद्धिजीवी आते रहते हैं.

पिछले दिनों ही लखनऊ के पासपोर्ट ऑफिस के द्वारा जब मुस्लिम शख्स अनस सिद्दिकी की पत्नी तन्वी सेठ को पासपोर्ट जारी किया गया तो ट्रोल ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को भी नहीं बख्शा. उन्हें गालियां दी गई. सुषमा ने भी ट्रोल को सबक सिखाने के लिए मुहीम शुरू की. भद्दे कमेंट्स को शेयर करना शुरू किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

लापता जवान की निर्ममता से हत्या, शव के साथ बर्बरता, आॅख भी निकाली

दो दिन पहले बार्डर की सफाई दौरान पाकिस्तानी