उत्तराखंड में 2022 की बिसात पर आकार लेगी कांग्रेस की नई कमेटी

देहरादून: प्रदेश कांग्रेस की नई कमेटी का गठन निकाय और 2019 में लोकसभा चुनाव की चुनौती से निपटने की रणनीति और वर्ष 2022 में विधानसभा चुनाव को लेकर बिछाई जा रही सियासी बिसात पर होने जा रहा है। प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह को इस मामले में हाईकमान ने फ्रीहैंड दे दिया है, लेकिन साथ ही यह ताकीद भी कर दी है कि पार्टी में सबको साथ लेकर चला जाए। उत्तराखंड में 2022 की बिसात पर आकार लेगी कांग्रेस की नई कमेटी

प्रदेश प्रभारी अनुग्रह नारायण सिंह 23 जुलाई को पहली बार देहरादून का रुख करेंगे। 24 जुलाई को वह पीसीसी, एआइसीसी सदस्यों के साथ ही जिला, शहर व फ्रंटल संगठनों के अध्यक्षों के साथ बैठक करेंगे। प्रभारी के फीडबैक के बाद पखवाड़ेभर के भीतर नई कमेटी के गठन की घोषणा की जा सकती है। 

प्रदेश कांग्रेस की नई कमेटी का गठन अगले माह अगस्त तक टलना तकरीबन तय माना जा रहा है। दरअसल, नई कमेटी के गठन से पहले हर स्तर पर फीडबैक लेने की तैयारी है। पिछली कमेटी का स्थान लेने जा रही नई कमेटी का आकार तुलनात्मक रूप से काफी छोटा रखने की तैयारी है। 

पिछली कमेटी जहां तकरीबन 400 कार्यकर्ताओं को समेटे हुए है, वहीं नई कमेटी में इसे 60 से 70 सदस्य तक रखा जा सकता है। एक वर्ष से ज्यादा वक्त से पिछली कमेटी से ही काम चला रहे प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह नई कमेटी को अपने हिसाब से मैदान में उतारने की कार्ययोजना को अंतिम रूप देने में जुटे हैं। 

प्रदेश में कांग्रेस को मजबूत करने और फिर निकायों से लेकर लोकसभा चुनाव में दमदार वापसी की चुनौती के मद्देनजर नई कमेटी में प्रीतम की अपनी रणनीति भी झलकना तय है। पार्टी रणनीतिकारों की मानें तो नई कमेटी में सभी गुटों को प्रतिनिधित्व मिलेगा, लेकिन पूर्व विधायकों को खासी तवज्जो दी जा सकती है। 

कई पूर्व विधायक तो संगठन में काम करने के लिए अपनी रजामंदी तो दे ही चुके हैं, साथ में जिलों से लेकर प्रदेश स्तर पर भी संगठन में जिम्मेदारी निभाने को तैयार बताए जा रहे हैं। संगठन को नई धार देने की कोशिश में जुटे प्रीतम सिंह पार्टी से छिटक चुके पुराने कांग्रेसियों की घर वापसी की जुगत में है। 

इससे पहले इन असंतुष्टों का फायदा केंद्र और प्रदेश में सत्तारूढ़ भाजपा उठाए, प्रीतम सिंह उन्हें अपने पाले में खींच लेना चाहते हैं। बीते दिनों टिहरी और नैनीताल जिलों से भाजपा के असंतुष्टों को समेटने के बाद अब टिहरी के ही कद्दावर नेताओं में शुमार पूर्व मंत्री शूरवीर सिंह सजवाण को कांग्रेस में शामिल करने की तैयारी हो चुकी है। 23 जुलाई को प्रदेश प्रभारी अनुग्रह नारायण सिंह की मौजूदगी में वह कांग्रेस का दामन थामेंगे। प्रदेश प्रभारी 24 जुलाई को प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में ही शहर, जिलों से लेकर प्रदेश स्तर पर पदाधिकारियों के साथ बैठक कर विभिन्न स्तर पर फीडबैक लेने जा रहे हैं। 

प्रदेश प्रभारी बनने के बाद अनुग्रह नारायण सिंह का यह पहला दून दौरा होगा। बैठक में फीडबैक के बाद प्रदेश कांग्रेस की नई कमेटी के जल्द गठन का रास्ता साफ हो जाएगा। माना जा रहा है कि अगले महीने अगस्त के पहले हफ्ते तक नई कमेटी अस्तित्व में आ सकती है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह का कहना है कि नई कमेटी का आकार छोटा रहेगा। इसमें जिलों से लेकर प्रदेश स्तर पर विभिन्न स्थानों पर सक्रिय कार्यकर्ताओं को जगह मिलेगी। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

पेट्रोल की बढ़ी कीमतों को लेकर पैदल मार्च कर रहे कांग्रेसी आपस में भिड़े

कानपुर : डीजल, पेट्रोल और रसोई गैस की