कोयला घोटाले में कांग्रेस नेता नवीन जिंदल की बढ़ी मुश्किलें

नई दिल्ली। कोल ब्लॉक आवंटन घोटाले में दिल्ली की विशेष अदालत ने पिछले सुनवाई में कांग्रेस नेता व उद्योगपति नवीन जिंदल पर अतिरिक्त आरोप तय कर दिया था। बृहस्पतिवार को इस मामले में जिंदल पर अब रिश्वत देने की कोशिश करने का आरोप भी तय कर दिया गया। मामला झारखंड के अमरकोंडा कोल ब्लॉक आवंटन से जुड़ा है। विशेष जज भरत पराशर ने पिछली सुनवाई में ही कहा था कि आरोपितों के खिलाफ 16 अगस्त को औपचारिक तौर पर आरोप तय किए जाएंगे।कोयला घोटाले में कांग्रेस नेता नवीन जिंदल की बढ़ी मुश्किलें

विशेष अदालत ने जिंदल स्टील के तत्कालीन सलाहकार आनंद गोयल, निहार स्टॉक्स लिमिटेड के निदेशक बीएसएन सूर्यनारायण और मुंबई की एस्सार पावर लिमिटेड के कार्यकारी उपाध्यक्ष सुशील कुमार मारु के खिलाफ धारा 120 बी (आपराधिक षड़यंत्र) लगाने का भी आदेश दिया था। वहीं, मुंबई के केई इंटरनेशनल के मुख्य वित्तीय अधिकारी राजीव अग्रवाल और गुरुग्राम के ग्रीन इंफ्रा के उपाध्यक्ष सिद्धार्थ माद्रा को सबूतों के अभाव अभाव में मामले से बरी कर दिया गया है। साथ ही कोर्ट ने कहा कि पूर्व कोयला राज्य मंत्री दसारी नारायण राव के खिलाफ घूसखोरी का आरोप था, लेकिन चूंकि अब वह जीवित नहीं हैं तो उनके खिलाफ आरोप तय नहीं किया गया है। 

बता दें कि कोर्ट ने अप्रैल 2016 में जिंदल, पूर्व कोयला राज्य मंत्री दसारी नारायण राव, झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा, पूर्व कोयला सचिव एच सी गुप्ता व अन्य 11 के खिलाफ आइपीसी व भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम की धाराओं के तहत आपराधिक षड़यंत्र, धोखाधड़ी के लिए आरोप तय करने के आदेश दिए थे।

झारखंड के कोल ब्लॉक आवंटन घोटाले में पटियाला हाउस स्थित विशेष अदालत ने उद्योगपति व कांग्रेस नेता नवीन जिंदल सहित 14 अन्य आरोपियों को समन जारी किया है। मनी लांड्रिंग केस में सभी आरोपियों को 15 अक्टूबर को कोर्ट में पेश होने को कहा गया है। कोर्ट ने पेशी का समन कोल ब्लॉक आवंटन घोटाले में प्रवर्तन निदेशालय की ओर से दर्ज किए गए मनी लांड्रिंग एक्ट के केस में जारी किया है। ईडी ने आरोप पत्र में कहा था कि कोल ब्लॉक आवंटित कराने के लिए करीब दो करोड़ रुपये की रिश्वत दी गई थी।

अदालत से नवीन जिंदल के अलावा जिंदल स्टील कंपनी के पूर्व सलाहकार आनंद गोयल, मुंबई की एस्सार पावर लिमिटेड के कार्यकारी उपाध्यक्ष सुशील कुमार मारो, निहार स्टॉक लिमिटेड के निदेशक बीएसएन सूर्यनारायण, मुंबई की कंपनी केई इंटरनेशनल के सीएफओ राजीव अग्रवाल, गुरुग्राम की कंपनी ग्रीन इंफ्रास्ट्रक्चर के उपाध्यक्ष सिद्धार्थ मादरा के अलावा के रामा कृष्णन प्रसाद, राजीव जैन और ज्ञान स्वरूप को समन जारी किया गया है। इसके अलावा नवीन जिंदल की कंपनी सहित पांच अन्य कंपनियों को भी समन जारी किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

यूपी: बहराइच में अब तक 70 से अधिक बच्चों की मौत, देखने पहुंचे डॉ. कफील खान अरेस्ट

उत्तर प्रदेश के बहराइच में संक्रमण के साथ