कांग्रेस ने पीएम मोदी पर साधा निशाना, कहा- ईस्ट इंडिया कंपनी का नया वर्जन है भाजपा

- in राजनीति

कांग्रेस ने भाजपा नेताओं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषणों में कही जा रही बातों को लेकर तल्ख टिप्पणी की है। पार्टी का कहना है कि भाजपा ईस्ट इंडिया कंपनी का नया वर्जन है जो बांटने की राजनीति कर रही है। पार्टी ने पीएम के भाषणों को लेकर चुनौती दी है कि वे हर रोज समाज में जहर घोलने का काम कर लें कांग्रेस पार्टी उस जहर को कंठ में धारण करने को तैयार है। कांग्रेस हर धर्म, क्षेत्र और भाषा का प्रतिनिधित्व करती है।        

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के मुसलमानों को लेकर दिए गए कथित बयान पर प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि कांग्रेस का धर्म भारतीयता है और 130 करोड़ देशवासी जिसमें हिंदू, मुस्लिम, सिख, इसाई, बौद्ध, जैन आदि के अलावा वे आदिवासी भी शामिल हैं जो किसी धर्म को नहीं मानते हैं। सुरेजवाला ने अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के अध्यक्ष नदीम जावेद के उस बयान को भी पढ़ा जिसे लेकर विवाद को नया मोड़ दिया जा रहा है।

उन्होंने कहा घृणा, बंटवारा और विभाजन भाजपा का धर्म है जबकि कांग्रेस सर्वधर्म समभाव और वसुदेव कुटुभंकम के सिद्धांत पर चलती है। कांग्रेस ने कहा कि मोदी जी सत्ता की लालसा में धृतराष्ट्र की तरह हो गए हैं। भाजपा नेता धर्म का मुखौटा लगाकर सत्ता की हवस का सिद्धांत अपना रहे हैं और नेतृत्व उसी तरह है जैसे विवेकहीन को वेद भी आचरण नहीं सिखा सकते हैं।

भाजपा ने अस्वस्थ मानसिकता से सुनियोजित तरीके से हिंदू मुस्लिम का हथकंडा अपना रहे हैं। सुरजेवाला ने कहा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने 50 महीने की सरकार की विफलता और वादों पर जवाब देने की जगह 2019 तक हिंदू-मुसलमान का खेल खेलकर ध्रुवीकरण करना चाहते हैं। पीएम इन दिनों वोट बटोरने की रैलियों में लगे हैं।

बंगाल में टैंट गिरने से घायल लोग कराहते रहे फिर भी पीएम भाषण सुनाते रहे। देश के कई राज्यों में भयानक बाढ़ आई है लेकिन वे वोट के लिए चुनावी रैलियों में डूबे हैं। बंगाल में 1942 में श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने उन्हें लोगों के साथ साझा सरकार बनाई जो देश का बंटवारा चाहते थे।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

मध्यप्रदेश चुनाव : कल भाजपा आयोजित करेगी ‘कार्यकर्ता महाकुंभ’, PM मोदी समेत कई बड़े नेता होंगे शामिल

मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव तेजी से नजदीक आ