शाहकोट विधानसभा उपचुनाव में कांग्रेस ने हरदेव सिंह लाडी को किया पार्टी प्रत्याशी घोषित

- in पंजाब, राज्य

चंडीगढ़। शाहकोट विधानसभा सीट के उपचुनाव के लिए कांग्रेस ने अपना प्रत्याशी घोषित कर दिया है। हरदेव सिंह लाडी शेरोवालिया पार्टी प्रत्याशी होंगे। यह सीट अकाली नेता अजीत सिंह कोहाड़ के निधन से खाली हुई है। लाडी शेरोवालिया पिछला चुनाव अजीत सिंह कोहाड़ से हार गए थे।शाहकोट विधानसभा उपचुनाव में कांग्रेस ने हरदेव सिंह लाडी को किया पार्टी प्रत्याशी घोषित

वहीं, अकाली दल ने कोहाड़ के बेटे नायब सिंह कोहाड़ को मैदान में उतारा है, जबकि आम आदमी पार्टी ने उम्मीदवारों को लेकर 20 में से 6 दावेदारों के नाम तय किए हैं। आप उपप्रधान डॉ. बलबीर सिंह ने कहा है कि वॉलंटियर्स की राय ली जा रही है। जिसके पक्ष में वॉलंटियर्स कहेंगे, उसी को टिकट दिया जाएगा। उन्होंने नाम जाहिर करने से इन्कार किया। शाहकोट विधानसभा के लिए 28 मई को मतदान होगा।

कांग्रेस के लिए यह चुनाव खासा महत्वपूर्ण हैं, क्योंकि 9 चुनाव में मात्र एक ही ऐसा चुनाव हुआ, जब इस सीट (लोहियां अब शाहकोट) पर कांग्रेस का प्रत्याशी जीता है। वह भी तब जब 1992 में अकाली दल ने चुनाव नहीं लड़ने का फैसला किया था। इस चुनाव को छोड़ दिया जाए, तो लोहियां विधानसभा सीट अस्तित्व में आने के 45 वर्षों में कांग्रेस आज तक अकाली दल के अभेद्य किले को भेद नहीं पाई है।

शाहकोट में तकरीबन 1.72 लाख मतदाता हैं। इसमें से सबसे बड़ी संख्या कंबोज बिरादरी की है। करीब 52 हजार वोट कंबोज बिरादरी के हैं, जबकि जट्ट सिख मतदाता की संख्या लगभग 45 हजार है। 2017 विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के प्रत्याशी हरदेव सिंह लाडी 4905 वोटों से हार गए थे। महत्वपूर्ण यह भी है कि इस सीट से आम आदमी पार्टी के प्रत्याशी रहे डॉ. अमरजीत सिंह को 41,010 वोट पड़े थे, जो कि बाद में अकाली दल में शामिल हो गए थे।

अब तक यह रहे विजेता 

वर्ष विजेता दल
1977 बलवंत सिंह शिअद
1980 बलवंत सिंह शिअद
1985 बलवंत सिंह शिअद
1992 बृज भूपेंदर सिंह कांग्रेस
1997 अजीत सिंह कोहाड़ शिअद
2002 अजीत सिंह कोहाड़ शिअद
2007 अजीत सिंह कोहाड़ शिअद
2012 अजीत सिंह कोहाड़ शिअद
2017 अजीत सिंह कोहाड़ शिअद

शाहकोट के एसडीएम का तबादला

भारतीय चुनाव आयोग ने पंजाब सरकार को झटका दे दिया है। आयोग के निर्देश पर बुधवार को शाहकोट के एसडीएम दरबारा सिंह का तबादला कर दिया गया। वे शाहकोट उपचुनाव के लिए रिटर्निंग अधिकारी नियुक्त किए गए थे। यह कार्रवाई शिअद की शिकायत पर हुई।

=>
=>
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

सरकारी बंगला बचाने के लिए मायावती ने चली नई चाल, किया ये काम

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने माल