बिहार में पूरे हुए शराबबंदी के दो साल

- in बिहार, राज्य

बिहार ने शराबबंदी को लेकर सूबे के मुखिया नीतीश कुमार ने जो मुहीम चला रखी है, उसने सूबे में दो साल पूरे कर लिए गए है. इस पर आज उत्पाद और मद्य निषेध विभाग की ओर से आयोजित करने वाले कार्यक्रम का उद्घाटन सीएम नीतीश और डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने किया.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार में पूर्ण शराबबंदी का क्या असर है ये तो बिहार की जनता से पूछिए. विपक्ष पर हमलावर होते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि उन लोगों को तो समाज के इस सुधार को लेकर भी राजनीति दिखती है, कमियां दिखती हैं. वहीं, सुशील मोदी ने कहा कि बिहार में शराबबंदी कोई खत्म नहीं कर सकता. किसी की हिम्मत नहीं कि बिहार में शराबबंदी खत्म कर सके. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की हिम्मत की दाद देता हूं जो उन्होंने इतना बड़ा कदम उठाया और उसपर अडिग रहे.

कानपुर: मधुमक्खियों ने ली महिला की जान

गौरतलब है की सरकार ने दो साल पहले बिहार में पूर्ण शराबबंदी लागु कर दी है जिसके बाद से बिहार में शराबियों, और शराब के कारोबार से जुड़े लोगों की शामत आ गई है. तमाम विरोधों के बावजूद सीएम नीतीश कुमार ने इसे पूरी सख्ती से लागु किया और आज इस समाजकल्याणकारी निर्णय के बुते बिहार के हालात में बेहद सुधार देखा जा सकता है.  

You may also like

SC/ST कानून के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों पर पुलिस ने बरसाई लाठियां

बिहार के पटना में सवर्ण एकता मंच के सैकड़ों