CM योगी पूर्व PM अटल बिहारी को देखने जाएंगे एम्स

लखनऊ। नई दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में बीते करीब दो महीने से भर्ती पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की तबीयत कल अधिक खराब होने पर उनको लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया है। अटल बिहारी वाजपेयी 1998 से 2004 तक तीन बार देश के प्रधानमंत्री चुने गये थे। हैं।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने सारे कार्यक्रम निरस्त कर दिए हैं। गोरखपुर से सीधे दिल्ली जाने की तैयारी है। मुख्यमंत्री ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल जी के स्वास्थ्य को लेकर दिल्ली बात की है।CM योगी पूर्व PM अटल बिहारी को देखने जाएंगे एम्स

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कल रात उनको देखने गए थे। आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी गोरखपुर से अटल बिहारी वाजपेयी को देखने एम्स जा सकते हैं। पहले सीएम योगी आदित्यनाथ का गोरखपुर से सीधा लखनऊ आने का कार्यक्रम था। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को देखने गोरखपुर से सीधा नई दिल्ली जा सकते हैं। इसके साथ ही उत्तर प्रदेश के दोनों उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य व डॉ. दिनेश शर्मा भी लखनऊ से नई दिल्ली जाने का कार्यक्रम तय है। योगी आदित्यनाथ सरकार के कई कैबिनेट मंत्री भी नई दिल्ली जाने की तैयारी में हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत उनकी कैबिनेट के एक दर्जन से अधिक मंत्री दिल्ली के एम्स में भर्ती पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी को देखने आज पहुंच सकते हैं। पिछले 24 घंटे में अटल बिहारी वाजपेयी की तबीयत काफी ज्यादा खराब हो गई है। डॉक्टर्स के मुताबिक अगले 24 घंटे उनके लिए बेहद नाजुक हैं। उन्हें लाइफ सपोर्ट सिस्टम में रखा गया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अभी गोरखपुर में हैं। वह गोरखपुर से सीधे दिल्ली पहुंच सकते हैं। कल शाम को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एम्स पहुंचकर अटल जी का हालचाल जाना था। वह वहां पर करीब 50 मिनट रुके थे। उनके बाद उनकी कैबिनेट के मंत्री समेत दिग्गज नेता एम्स पहुंचे थे। आज सुबह उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू भी अटल बिहारी वाजपेयी को देखने एम्स पहुंचे थे। इनके बाद पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी तथा उनकी पुत्री भी अटल जी को देखने पहुंचे थे।

श्री वाजपेयी को किडनी में संक्रमण, छाती में जकडऩ और यूरीन आउटपुट कम होने की परेशानी के चलते 11 जून को एम्स में भर्ती कराया गया था। इससे पहले भी स्वास्थ्य खराब होने की वजह से वह धीरे-धीरे सार्वजनिक जीवन से दूर होते चले गए और कई वर्ष से अपने आवास तक सीमित हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

लोकनृत्य प्रतियोगिता का प्रथम पुरस्कार सीएमएस छात्रा को

लखनऊ। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, अलीगंज (द्वितीय कैम्पस) की