Home > Mainslide > राम जन्मभूमि विवाद को लेकर CM योगी ने कांग्रेस को बताया दोषी और सबसे बड़ी बाधा

राम जन्मभूमि विवाद को लेकर CM योगी ने कांग्रेस को बताया दोषी और सबसे बड़ी बाधा

गोरक्षपीठ के महंत योगी आदित्यनाथ 19 साल गोरखपुर से सांसद रहे। अब उन्हें मुख्यमंत्री के रूप में काम करते हुए भी 19 महीने पूरे हो रहे हैं। सांसद के नाते जिस अव्यवस्था के खिलाफ संघर्ष किया, मुख्यमंत्री के नाते अब उसे ही ठीक करने की जिम्मेदारी उन पर है।राम जन्मभूमि विवाद को लेकर CM योगी ने कांग्रेस को बताया दोषी और सबसे बड़ी बाधा

वे कहते हैं, ‘भूमिका भले ही बदली हो लेकिन उद्देश्य जो तब था वही अब है। सफलता मिल रही है।’ कभी अयोध्या आंदोलन का हिस्सा और अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ राम मंदिर निर्माण के सवाल पर कहते हैं, इस विवाद के अब तक न सुलझने के लिए कांग्रेस दोषी और सबसे बड़ी बाधा है।

हालांकि इसी के चलते वह न घर की रही न घाट की। पर, वह अब भी समझने को तैयार नहीं। हम चाहते हैं कि जनभावना का सम्मान करते हुए संवैधानिक दायरे में इस विवाद का समाधान हो। उम्मीद है न्यायालय जल्द इस विवाद का पटाक्षेप करेगा।

कांग्रेस नहीं चाहती राम जन्मभूमि विवाद सुलझे

योगी ने कहा, कांग्रेस शुरू से राम जन्मभूमि विवाद को लटकाने की कोशिश करती रही है। जिनके तुष्टीकरण के लिए उसने हिंदू समाज को अपमानित किया, वे भी उसे छोड़ गए। पर, वह सबक नहीं ले रही। कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने सुुप्रीम कोर्ट से जन्मभूमि विवाद की सुनवाई और फैसला लोकसभा चुनाव से पहले न करने की मांग कर यह साबित कर दिया। सिब्बल की मांग न्यायालय के काम में हस्तक्षेप है। शांति, सौहार्द के लिए इस विवाद का पटाक्षेप जरूरी है।
 
संतों के संकल्प में जनभावनाएं
अयोध्या में धर्मसभा के लिए छपवाए गए पोस्टर पर स्व. महंत अवेद्यनाथ और स्व. रामचंद्र परमहंस की तस्वीरों के सवाल पर बोले, ‘मेरे गुरुजी महंत अवेद्यनाथ ‘श्रीराम जन्मभूमि मुक्ति यज्ञ समिति’ के अध्यक्ष थे। परमहंस रामचंद्र परमहंस ‘श्रीराम जन्मभूमि न्यास’ के अध्यक्ष थे। इन पूज्य संतों का जो संकल्प था, वही आज लोगों की भावना है।

19 साल सांसद बनाम 19 महीने सीएम

पहले 19 साल सांसद और अब 19 महीने मुख्यमंत्री के अनुभव में अंतर के सवाल पर कहा कि दोनों ही जगह काम करने में ईमानदारी और सकारात्मक दृष्टिकोण को सबसे ऊपर रखा। इसीलिए सफल रहा। निहित स्वार्थ में उत्तर प्रदेश को काफी बिगाड़ दिया गया था। धीरे-धीरे सब पटरी पर आ रहा है। परिवर्तन दिख रहा है। हमारा लक्ष्य प्रदेश की 23 करोड़ जनता का कल्याण है।
 
राजनीति व धर्म दोनों ही लोक कल्याण के मार्ग
गोरक्ष पीठाधीश्वर, प्रदेश के मुख्यमंत्री और भाजपा के वोट दिलाऊ व जिताऊ चेहरे के बीच तालमेल के सवाल पर बोले, धर्म और राजनीति दोनों ही लोक कल्याण के मार्ग हैं। स्वार्थ के बजाय परमार्थ को ध्यान में रखकर काम करो तो समय की सीमा काम में रुकावट नहीं बनती।
 
चार राज्यों में जीतेंगे, तेलंगाना में मुख्य मुकाबले में
योगी ने कहा कि छत्तीसगढ़ में भाजपा की राज्य सरकार व मोदी सरकार ने लोगों के कल्याण के लिए जो काम किए हैं, उनसे दोबारा सत्ता में लौटेंगे। मध्य प्रदेश में भी बहुत अच्छा काम हुआ है। वहां भी जीतना तय है। राजस्थान के लोग भी भाजपा के पक्ष में हैं। तेलंगाना में भी केंद्र की योजनाओं ने लोगों का जीवन बदला है। वहां भाजपा मुख्य मुकाबले में रहेगी। मिजोरम में भी भाजपा जीतेगी।
 
हर परीक्षा को तैयार…
लोकसभा चुनाव की परीक्षा के सवाल पर कहा कि वह पूरी तरह इसके लिए तैयार हैं। काम किया है। इसलिए परीक्षा में अच्छे अंकों के साथ पास होना तय है।

महागठबंधन का मतलब चोर-चोर मौसेरे भाई
सपा, बसपा और रालोद के संभावित गठबंधन के सवाल पर योगी ने कहा कि गठबंधन का भाजपा के प्रदर्शन पर कोई असर नहीं होने वाला। जनता को पता है कि ये चोर-चोर मौसेरे भाई हैं।

चर्च की गतिविधियां राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़

योगी ने चर्च की भूमिका पर भी सवाल उठाए। कहा, ‘बृहस्पतिवार को मैं छत्तीसगढ़ के जसपुर में था। यह इलाका झारखंड व उड़ीसा से जुड़ा है। इस क्षेत्र में चर्च की गतिविधियां देखकर कहा जा सकता है कि सेवा की आड़ में सौदेबाजी कर राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़ किया जा रहा है। इसकी इजाजत किसी को नहीं दी जानी चाहिए। भारत विरोधी गतिविधियों से सख्ती से निपटा जाना चाहिए।
 
शिक्षक भर्ती में धांधली का आरोप गलत
मुख्यमंत्री ने कहा कि शिक्षक भर्ती में धांधली का आरोप पूर्वाग्रह से ग्रस्त व्यक्ति ही लगा सकता है। इस मामले में सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी समेत कई अधिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की है। प्रत्येक अभ्यर्थी को उत्तर पुस्तिका के पुनर्मूल्यांकन की अनुमति दी। शिक्षकों की भर्ती के लिए एक लाख अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी। इनमें से 41 हजार पास हुए। धांधली हुई होती तो सभी 68500 रिक्तियों के लिए अभ्यर्थी पास हो जाते।

कैबिनेट विस्तार : समय आने पर देखेंगे

लोकसभा चुनाव से पहले मंत्रिमंडल में नए चेहरों को शामिल करने का सवाल पर बोले, समय आने पर देखा जाएगा। वैसे राजनीति में ऐसी संभावनाएं हमेशा बनी रहती हैं।
 
पुरानी पेंशन योजना पर गंभीर
सांसद के रूप में राज्य कर्मचारियों को पुरानी पेंशन का समर्थन करने वाले योगी आदित्यनाथ बतौर मुख्यमंत्री कहते हैं कि वह इस मामले को देख रहे हैं। पेंशन योजना के मुद्दे पर उच्चस्तरीय कमेटी बनाई गई है। इस कमेटी की सिफारिशों पर विचार किया जाएगा।
 
विवेक हत्याकांड में किसी को बचाने का प्रयास नहीं
विवेक तिवारी हत्याकांड में पुलिस अधिकारियों की भूमिका पर उन्होंने कहा कि यह दुर्घटना थी। इसमें दोषी को बचाने की कोशिश का आरोप निराधार है। 
 
गन्ना किसानों के बकाया भुगतान के लिए सॉफ्ट लोन
प्रदेश में पहली बार गन्ना किसानों को 40 हजार करोड़ रुपये भुगतान हुआ है। किसानों का 4000 करोड़ अभी बकाया है। इसके भुगतान के लिए चीनी मिलों को सॉफ्ट लोन दिया जा रहा है। सरकार 30 नवंबर तक बकाया भुगतान करने के लिए कृतसंकल्प है।  
 
डीएम जरूरत पर खोल सकते हैं नए खरीद केंद्र 
धान खरीद के लिए किसानों का रजिस्ट्रेशन किया गया है ताकि पैसा उन्हीं के खाते में जाए। जिलाधिकारियों को आवश्यकता पड़ने पर नए खरीद केंद्र खोलने की अनुमति दी गई है।
Loading...

Check Also

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज 22 दिसंबर को आ सकती हैं वाराणसी, व्यवस्थाएं सुधारने में जुटा प्रशासन

प्रवासी भारतीय सम्मेलन की तैयारियों को जानने के लिए 22 दिसंबर को विदेश मंत्री सुषमा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com