Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > डॉक्टरों को सेवा में भेद न करने की CM योगी ने दिए ये निर्देश

डॉक्टरों को सेवा में भेद न करने की CM योगी ने दिए ये निर्देश

गोरखपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को बीआरडी मेडिकल कॉलेज के आडिटोरियम में 74.59 करोड़ रुपये की लागत के 11 परियोजनाओं की सौगात दी। कहा कि दूसरी सरकारों ने प्रदेश को आधा-अधूरा अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) दिया। रायबरेली के इस एम्स को मैं पूरा करवा रहा हूं। अगस्त के पहले हफ्ते में ओपीडी शुरू करा दिया जाएगा। हमारी सरकार गोरखपुर में एक नया एम्स बनवा रही है। इसके साथ ही प्रदेश भर में 13 नए मेडिकल कॉलेज खुलवाए जा रहे हैं। हम स्वास्थ्य सेवाओं को लगातार बेहतर कर रहे हैं लेकिन, ग्रामीण क्षेत्रों में डॉक्टर न रहने के कारण हमारे प्रयास सफल नहीं हो पा रहे हैं।डॉक्टरों को सेवा में भेद न करने की CM योगी ने दिए ये निर्देश

बीआरडी मेडिकल कालेज में सभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि वह चिकित्सा संस्थानों की समस्याओं को समझ सकते हैं। शिक्षकों, संसाधनों और स्टाफ की कमी है। बीआरडी मेडिकल कॉलेज में बिहार, नेपाल से भी मरीज आते हैं इसलिए लोड ज्यादा है। हम संसाधन बढ़ा रहे हैं। डॉक्टरों की भारी कमी एक बड़ी चुनौती है इसलिए मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (एमसीआइ) और केंद्र सरकार को पत्र लिखकर नियमों को शिथिल करवा रहे हैं। बस्ती, बहराइच, फैजाबाद, फिरोजाबाद और शाहजहांपुर में मेडिकल कॉलेज बन रहे हैं। देवरिया, सिद्धार्थनगर, मीरजापुर, फतेहपुर, एटा, हरदोई समेत आठ जिलों में मेडिकल कॉलेज बनने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। मीरजापुर में प्रधानमंत्री ने मेडिकल कॉलेज का भूमि पूजन किया है।

सीएम ने कहा कि बीआरडी में अगले साल एमबीबीएस की सीटें बढ़ाई जाएंगी। 20 साल पहले हमेशा बात उठती थी कि बीआरडी की मान्यता खत्म होने वाली है। कॉलेज के कुछ आचार्य भी मान बैठे थे कि अब बीआरडी नहीं बचेगा लेकिन ऐसा नहीं हुआ। हमने लंबी लड़ाई लड़ी। अब बीआरडी में शानदार सुविधाएं हैं। प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा डॉ. रजनीश दुबे ने आभार ज्ञापन किया। बाद में पत्रकारों से बातचीत में सीएम ने कहा कि बीआरडी मेडिकल कॉलेज और केजीएमयू लखनऊ में 65 हजार से ज्यादा लोगों को इंसेफ्लाइटिस से बचाव को लेकर प्रशिक्षित किया गया है।

इन सुविधाओं का किया लोकार्पण

– 100 बेड अस्पताल के ऊपर द्वितीय तल पर 79 बेड के वार्ड का निर्माण।

– छह मॉड्यूलर ओटी के उच्चीकरण का कार्य। इनमें सर्जरी की तीन, न्यूरो सर्जरी की एक और स्त्री एवं प्रसूति रोग विभाग की दो ओटी शामिल।

– वार्ड नंबर 11 नेत्र रोग वार्ड के सुदृढ़ीकरण का कार्य।

– गैस्ट्रो इंट्रोलॉजी विभाग के जीर्णोद्धार का कार्य।

– कार्डियोलॉजी विभाग में छह प्राइवेट वार्ड के जीर्णोद्धार का कार्य।

– 500 किलोवाट सोलर पावर प्लांट की स्थापना का कार्य।

इन योजनाओं का किया शिलान्यास

– लेवर कांप्लेक्स भवन का निर्माण।

– इलेक्ट्रिकल सुरक्षा का कार्य।

– फायर हाईड्रेंट सिस्टम एवं फायर अलार्म सिस्टम की स्थापना का कार्य।

– वार्ड नंबर 1, 2, 4, 8 तथा वार्ड नंबर 1 से 10 की बाहरी दीवारों व ट्रॉमा सेंटर के जीर्णोद्धार का कार्य।

– 125 बेड युक्त रैन बसेरा का निर्माण। 

Loading...

Check Also

वाराणसी में चर्चित लेडी डॉक्टर ने जहर का इंजेक्शन लगा कर की आत्महत्या, सुसाइड नोट बरामद

वाराणसी में चर्चित लेडी डॉक्टर ने जहर का इंजेक्शन लगा कर की आत्महत्या, सुसाइड नोट बरामद

वाराणसी के अर्दली बाजार क्षेत्र की चर्चित चिकित्सक डॉ. शिल्पी राजपूत ने खुद को जहर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com