Home > राजनीति > राजस्थान गौरव यात्रा के दूसरे दिन सीएम राजे पहुंचेगी गोगुंदा

राजस्थान गौरव यात्रा के दूसरे दिन सीएम राजे पहुंचेगी गोगुंदा

अजेय भूमि राजसमंद के चारभुजानाथ जी से अपनी राजस्थान गौरव यात्रा की शुरुआत कर चुकीं मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की राजस्थान गौरव यात्रा हल्दीघाटी होते हुए महाराणा प्रताप की भूमी उदयपुर जिले के गोगुंदा में प्रवेश करेगी.

यात्रा के दूसरे दिन की शुरुआत मुख्यमंत्री श्रीनाथ जी के दर्शन के साथ करेंगी. सीएम का यात्रा रथ हल्दीघाटी होते हुए वाटी क्षेत्र के कालोड़ा गांव से उदयपुर जिले में प्रवेश करेगा. यहां वसुंधरा तीन विधानसभा क्षेत्र-गोगुंदा, झाड़ोल और खेरवाड़ा में जनसभाएं करेंगी जिसकी तैयारियां जोरों पर है.

बता दें कि गोगुंदा पहले के दिनों में बड़ी रियासतों में से एक रियासत थी. महाराणा उदय सिंह के निधन के बाद गोगुंदा में ही होली के दिन महाराणा प्रताप का राज्याभिषेक हुआ था. गोगुंदा महाराणा प्रताप की राजधानी थी.  चित्तौड़गढ़ के बाद उस जमाने में गोगुंदा रियासत दूसरा स्थान रखती थी. महाराणा प्रताप की अश्वारूढ़ प्रतिमा का माल्यार्पण कर मुख्यमंत्री राजे सबसे पहली जनसभा गोगुंदा में करेंगी.

जिसके बाद सीएम हेलीकॉप्टर से झाड़ोल पहुंचकर सभा को संबोधित करेंगी और वहां से हेलीकॉप्टर से ही श्रृषभदेव पहुंच कर रथ से खेरवाड़ा जाकर जनसभा को संबोधित करेंगी. यहां से मुख्यमंत्री की यात्रा तीसरे दिन वागड़ के डुंगरपुर में प्रवेश करेगी.

गौरतलब है कि उदयपुर जिले यह तीनों विधानसभाएं अनुसूचित जाती के लिए आरक्षित हैं. गोगुंदा से भारतीय जनता पार्टी से प्रताप लाल भील विधायक हैं. जबकी झाड़ोल विधानसभा सीट पर कांग्रेस से हीरालाल दरांगी विधायक हैं. खेरवाड़ा से बीजेपी के नानालाल अहारी विधायक हैं. 

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे इससे पहले दो बार ऐसी यात्राएं कर चुकी हैं. इससे पहले उन्होंने परिवर्तन यात्रा और सुराज संकल्प यात्रा निकाली थी. बतौर मुख्यमंत्री राजे की यह पहली राजस्थान यात्रा है. जिसके तहत वह सभी संभागों में जाएंगी. हालांकि, उनका काफिला राज्य के सभी 200 विधानसभा क्षेत्रों से होकर नहीं गुजरेगा, लेकिन वह 168 विधानसभाओं में जाएंगी. उदयपुर संभाग में राजे 7 दिन, भरतपुर में 4 दिन, जोधपुर में 7 दिन, बीकानेर में 6 दिन, कोटा में 4 दिन, जयपुर में 5 दिन और अजमेर में 7 दिन गुजारेंगी.

Loading...

Check Also

सिंधिया और सचिन पायलट की इस सोच की वजह से तय नहीं हो पा रहा मुख्यमंत्री का नाम?

सिंधिया और सचिन पायलट की इस सोच की वजह से तय नहीं हो पा रहा मुख्यमंत्री का नाम?

सचिन पायलट को मुख्यमंत्री पद से कम स्वीकार नहीं है। वह इसके लिए कांग्रेस अध्यक्ष …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com