चार महीने के बाद अफसरों के साथ बैठे CM केजरीवाल

नई दिल्ली। मुख्यमंत्री निवास में 19 फरवरी की रात दिल्ली के मुख्य सचिव के साथ कथित मारपीट के बाद दिल्ली सरकार और अधिकारियों के बीच चार महीने तक चला गतिरोध आखिरकार खत्म हुआ। बृहस्पतिवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बिजली-पानी की स्थिति पर जल बोर्ड और ऊर्जा विभाग के अधिकारियों संग समीक्षा बैठक की। उन्होंने बिजली-पानी पर रोजाना रिपोर्ट देने को कहा। केजरीवाल के बेंगलुरु में रहने के दौरान फोन पर रिपोर्ट दी जाएगी।चार महीने के बाद अफसरों के साथ बैठे CM केजरीवाल

बैठक में मुख्यमंत्री ने यह भी निर्देश दिया कि किराएदारों को बिजली सब्सिडी योजना का फायदा दिया जाए। बिजली बैठक में ऊर्जा मंत्री सत्येंद्र जैन और ऊर्जा सचिव समेत बिजली कंपनियों के अधिकारी भी मौजूद थे। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि बिजली कटौती के कारणों की पूरी जानकारी दी जाए।

मोहल्ला क्लीनिक का निरीक्षण

स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने अधिकारियों के साथ आजादपुर मंडी में बने मोहल्ला क्लीनिक का औचक निरीक्षण किया। साथ ही कहा कि एक जुलाई से सरकार 30 और मोहल्ला क्लीनिक शुरू करने जा रही है। इन्हें शुरू करने में यदि किसी अधिकारी ने अड़चन डाली तो कार्रवाई होगी।

सफाईकर्मियों की सुरक्षा पर चर्चा

सीवर सफाई के दौरान होने वाली मौतों के मद्देनजर समाज कल्याण मंत्री राजेन्द्र पाल गौतम ने 200 सफाई कर्मचारियों की सुरक्षा और भविष्य को लेकर अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक में निर्णय लिया गया कि सफाई कर्मियों को लोन देकर सीवर सफाई के लिए खास मशीन खरीदने में मदद की जाएगी। सरकार पहले चरण में 200 मशीनें किराए पर लेगी। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बसपा ने भी तोड़ा नाता, राहुल की एक और सियासी चूक, बीजेपी के लिए संजीवनी

बसपा अध्यक्ष मायावती ने कांग्रेस की बजाय अजीत जोगी के