सीएम फड़नवीस की ऑडियो क्लिप पर मचा हंगामा

मुंबई। महाराष्ट्र की पालघर लोकसभा सीट के लिए हो रहे उपचुनाव के प्रचार में मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस की एक ऑडियो क्लिप सुनाए जाने को लेकर सूबे की राजनीति गरमा गई है। यह ऑडियो क्लिप शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने अपने भाषण के दौरान सुनवाई। इसके जवाब में मुख्यमंत्री फड़नवीस ने इसे अपनी आवाज स्वीकार करते हुए पूरी आडियो क्लिप सुनाई और कहा कि जानबूझकर उनकी आडियो क्लिप से छेड़छाड़ की गई है। अब भाजपा इस मुद्दे पर चुनाव आयोग में शिकायत करने की तैयारी कर रही है।सीएम फड़नवीस की ऑडियो क्लिप पर मचा हंगामा

शुक्रवार को पालघर में चुनाव प्रचार करने गए शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने अपने भाषण के दौरान एक ऑडियो क्लिप सुनवाई, जिसमें मुख्यमंत्री फड़नवीस भाजपा कार्यकर्ताओं से साम, दाम, दंड, भेद का प्रयोग कर उपचुनाव जीतने की बात करते सुनाई दे रहे हैं। इसी क्लिप में मुख्यमंत्री भाजपा कार्यकर्ताओं को यह कहते भी सुनाई दे रहे हैं कि यदि कोई दादागीरी करता है, तो हमें उससे ज्यादा दादागीरी करनी चाहिए। मैं तुम्हारे पीछे दृढ़तापूर्वक खड़ा रहूंगा। शिवसेना इसे मुख्यमंत्री की धमकी करार दे रही है। इस क्लिप के आधार पर ही शिवसेना ने चुनाव आयोग में शिकायत भी दर्ज कराई है।

दूसरी ओर, शनिवार को मुख्यमंत्री फड़नवीस ने वसई की चुनावी रैली में शिवसेना पर उनके वक्तव्य को तोड़मरोड़ कर सामने रखने का आरोप लगाया है। सीएम ने कहा कि वह यह आडियो क्लिप खुद ही चुनाव आयोग के सुपुर्द करेंगे। उनका कहना है कि उन्होंने अपने वक्तव्य में कोई भी अनुचित बात की हो, तो वह कोई भी दंड भुगतने को तैयार हैं। मुख्यमंत्री के अनुसार उन्होंने अपने 14 मिनट के वक्तव्य का अंत इस वाक्य से किया था कि हम सत्ता में हैं। लेकिन हम इसका दुरुपयोग कभी नहीं करेंगे। फड़नवीस कहते हैं कि उद्धव ठाकरे की सुनाई ऑडियो क्लिप में ये लाइनें नहीं हैं।

भाजपा प्रवक्ता माधव भंडारी भी कहते हैं कि शिवसेना को पालघर उपचुनाव में अपनी हार सामने दिखाई दे रही है। इसलिए वह मुख्यमंत्री की छेड़छाड़ की हुई ऑडियो क्लिप सुनवाकर मतदाताओं को भ्रमित करने का काम कर रही है। भंडारी के अनुसार भाजपा खुद मुख्यमंत्री की समूची ऑडियो क्लिप चुनाव आयोग को देकर शिकायत दर्ज कराएगी।

दो सत्ताधारी दलों में चल रही इस खींचतान के बीच कांग्रेस और राकांपा जैसे विरोधी दल भी कूद पड़े हैं। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अशोक चव्हाण ने कहा है कि यदि ऑडियो क्लिप सही है तो मुख्यमंत्री को अपने पद से त्यागपत्र देना चाहिए। अन्यथा उन्हें गलत ऑडियो क्लिप पेश करनेवाले उद्धव ठाकरे के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई करनी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

पेट्रोल की बढ़ी कीमतों को लेकर पैदल मार्च कर रहे कांग्रेसी आपस में भिड़े

कानपुर : डीजल, पेट्रोल और रसोई गैस की