NZvENG: 42 साल बाद ये पांच बल्लेबाज शून्य पर हुए आउट, 58 रन पर ढेर हुई इंग्लैंड टीम

ट्रेंट बोल्ट (6 विकेट) और टिम साउदी (4 विकेट) की धारदार गेंदबाजी के सामने इंग्लैंड की पहली पारी गुरुवार से शुरू हुए डे-नाइट टेस्ट के पहले दिन सिर्फ 58 रन पर सिमट गई।

Loading...

NZvENG: 42 साल बाद ये पांच बल्लेबाज शून्य पर हुए आउट, 58 रन पर ढेर हुई इंग्लैंड टीम NZvENG: 42 साल बाद ये पांच बल्लेबाज शून्य पर हुए आउट, 58 रन पर ढेर हुई इंग्लैंड टीम ऑकलैंड में दो टेस्ट मैचों की सीरीज के पहले टेस्ट के पहले दिन इंग्लैंड के पांच बल्लेबाज खाता भी नहीं खोल सके और 1976 के बाद यह पहला मौका रहा, जब पांच अंग्रेज बल्लेबाज एक पारी में खाता नहीं खोल सके। वैसे टेस्ट क्रिकेट में कुल तीन मौकों पर इंग्लैंड के पांच बल्लेबाज टेस्ट की एक पारी में खाता खोले बिना पवेलियन लौटे हैं।

इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी की और 20.4 ओवर में सिर्फ 58 रन पर ढेर हो गई। जवाब में न्यूजीलैंड ने स्टंप्स तक 69 ओवर में 3 विकेट खोकर 175 रन बना लिए हैं। केन विलियमसन (91*) और हेनरी निकोल्स (24*) क्रीज पर जमे हुए हैं। मेजबान टीम ने इंग्लैंड के खिलाफ पहली पारी के आधार पर 117 रन की बढ़त हासिल कर ली है, जबकि उसके 7 विकेट शेष हैं।

कीवी कप्तान ने इंग्लैंड को बैकफुट पर भेजा

इंग्लैंड को सस्ते में समेटने के बाद बल्लेबाजी करने उतरी न्यूजीलैंड की शुरुआत भी अच्छी नहीं रही। ओपनर जीत रावल को जेम्स एंडरसन ने विकेटकीपर बेयरस्टो के हाथों झिलवाकर कीवी टीम को पहला झटका दिया। इसके बाद टॉम लैथम (26) और कप्तान केन विलियमसन ने दूसरे विकेट के लिए 84 रन की साझेदारी करके इंग्लैंड को बैकफुट पर धकेला।

स्टुअर्ट ब्रॉड ने लैथम को वोक्स के हाथों कैच आउट कराकर न सिर्फ इस साझेदारी को तोड़ा, बल्कि एक खास उपलब्धि भी हासिल की। वह जेम्स एंडरसन के बाद टेस्ट क्रिकेट में 400 विकेट लेने वाले इंग्लैंड के दूसरे गेंदबाज बन गए हैं। इसके बाद कप्तान केन विलियमसन (91*) ने रॉस टेलर (20) के साथ 31 रन की साझेदारी की। जेम्स एंडरसन ने टेलर का कैच वोक्स के हाथों कराकर कीवी टीम का तीसरा विकेट गिराया।

इसके बाद विलियमसन ने हेनरी निकोल्स (24*) के साथ 52 रन की साझेदारी करके न्यूजीलैंड को फ्रंटसीट पर लाकर खड़ा कर दिया।
इंग्लैंड के नाम दर्ज हुआ शर्मनाक रिकॉर्ड

न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने टॉस जीतकर इंग्लैंड को पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया। इंग्लैंड को एलिस्टर कुक (5) और मार्क स्टोनमैन (11) टीम को अच्छी शुरुआत दिलाने में नाकाम रहे। बोल्ट ने कुक को लैथम के हाथों कैच कराकर इंग्लैंड को पहला झटका दिया। इसके बाद अपने अगले ओवर में इंग्लिश कप्तान जो रूट को क्लीन बोल्ड कर दिया। रूट खाता भी नहीं खोल सके।

इंग्लैंड की हालत तब और बिगड़ गई जबक दो रन के अंतराल में उसने अपने चार महत्वपूर्ण विकेट गंवा दिए। डेविड मलान, मार्क स्टोनमैन, बेन स्टोक्स और जोनी बेयरस्टो तू चल मैं आया जैसे पवेलियन लौटते गए।

स्कोर 18 रन से बढ़कर 23 रन पहुंचा ही था कि इंग्लैंड को चार रन के अंतराल में तीन जोरदार झटके लगे। इस दौरान क्रिस वोक्स (5), मोइन अली और स्टुअर्ट ब्रॉड आउट हुए। अली और ब्रॉड खाता भी नहीं खोल सके। जेम्स एंडरसन (1) ने क्रैग ओवरटन (33*) के साथ अंतिम विकेट के लिए 31 रन की साझेदारी करके इंग्लैंड को 50 रन के पार लगाया।
इस दिन को जल्द ही भूलना चाहेगी इंग्लैंड की टीम

हालांकि, इंग्लैंड का टेस्ट क्रिकेट में यह छठा न्यूनतम स्कोर रहा। इंग्लैंड का टेस्ट में सबसे कम स्कोर 45 रन है, जब ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 1887 में ऑलआउट हुई थी। इसके बाद वेस्टइंडीज ने 1994 और 2009 में इंग्लैंड को क्रमशः 46 व 51 रन पर ऑलआउट कर दिया था।

1948 और 1888 में ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड को क्रमशः 52 व 53 रन पर ऑलआउट किया था।

Loading...
loading...