तेलंगाना प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रमुख रेवंत रेड्डी ने शशि थरूर को लेकर दिया विवादित बयान

हैदराबाद: तेलंगाना प्रदेश कांग्रेस कमेटी (टीपीसीसी) के प्रमुख रेवंत रेड्डी की एक टिप्पणी ने विवाद खड़ा कर दिया. रेवंत रेड्डी ने पार्टी सांसद शशि थरूर को कथित तौर पर ‘गधा’ बता दिया. तेलंगाना के मंत्री केटी रामा राव ने गुरुवार को ट्विटर पर रेवंत रेड्डी की मीडियाकर्मियों से बातचीत का ऑडियो क्लिप पोस्ट किया. क्लिप में, रेवंत रेड्डी, जो सांसद भी हैं, उन्हें थरूर को ‘गधा’ कहते हुए सुना जा सकता है.

रेड्डी की कथित अपमानजनक टिप्पणी की मीडिया रिपोर्ट को लेकर कांग्रेस के कुछ नेताओं ने नाराजगी जतायी है. जिसके बाद उन्हें माफी मांगनी पड़ी. कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने कहा, ‘रेवंत रेड्डी जी, डॉ शशि थरूर आपके और मेरे एक सहयोगी हैं. बेहतर होता कि आप उनसे बात करते अगर आपको उनके कथित बयान के बारे में कुछ गलतफहमी है. हमारी मांग है कि आप अपने शब्दों को वापस ले लें.’

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राजीव अरोड़ा ने भी रेड्डी की टिप्पणी की निंदा की. उन्होंने ट्विटर पर लिखा, ‘मैं तेलंगाना टीपीसीसी अध्यक्ष रेवंत रेड्डी द्वारा एआईपीसी अध्यक्ष और वरिष्ठ कांग्रेस सांसद शशि थरूर पर अपमानजनक टिप्पणी की निंदा करता हूं. उन्हें अपनी टिप्पणी वापस लेते हुए एक बयान जारी करना चाहिए.’

कांग्रेस नेता रेवंथ रेड्डी ने माफी मांगी
पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की ओर से नाराजगी जाहिर करने के बाद कांग्रेस की तेलंगाना इकाई के अध्यक्ष रेवंथ रेड्डी ने वरिष्ठ नेता शशि थरूर के खिलाफ अपनी कथित अपमानजनक टिप्पणी को लेकर उनसे माफी मांगी. रेड्डी ने ट्वीट किया, ‘मैंने शशि थरूर जी से बातचीत करके यह बताया कि मैं अपनी टिप्पणी वापस लेता हूं और दोहराता हूं कि मैं अपने वरिष्ठ सहयोगी को सर्वोच्च सम्मान देता हूं.’ उन्होंने थरूर को उनके शब्दों से पहुंची किसी भी तरह की ठेस के लिए खेद व्यक्त किया.

बाद में ट्वीट का जवाब देते हुए तिरुवनंतपुरम से सांसद थरूर ने ट्विटर पर कहा, ‘मुझे रेवंथ रेड्डी ने फोन कर, जो कहा गया था, उसके लिए माफी मांगी. मैं उनके खेद की अभिव्यक्ति को स्वीकार करता हूं और इस दुर्भाग्यपूर्ण प्रकरण को पीछे छोड़कर खुश हूं.’

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

two × 4 =

Back to top button