तिहरे हत्याकांड के मुख्य आरोपी को लेकर सीबीसीआईडी पहुंची पूर्णागिरी, मिला कंकाल

- in अपराध
चंपावत के सिलाड़ ग्राम पंचायत के उदाली गांव में हुए तिहरे हत्याकांड के आरोपी प्रीतम सिंह को लेकर सीबीसीआईडी टीम पूर्णागिरी धाम क्षेत्र पहुंची। जहां आरोपी की निशानदेही पर एक नर कंकाल बरामद किया गया।

बुधवार को तिहरे हत्याकांड के मुख्य आरोपी को लेकर टीम मां पूर्णागिरि धाम क्षेत्र गई। 2017 में मेले के दौरान लापता किशोर संजीव की तलाश में टीम आरोपी को लेकर धाम क्षेत्र में गई। जहां पुलिस ने आरोपी की निशानदेही में एक नर कंकाल बरामद किया है। पूर्णागिरि में चरण मंदिर से ऊपर पहाड़ी पर लापता संजीव का कंकाल बरामद किया गया। संजीव के परिजनों ने कपड़ों से मृतक संजीव की शिनाख्त की।

बता दें कि चंपावत के सिलाड़ ग्राम पंचायत के उदाली गांव में लुटेरों ने पति-पत्नी और मां की धारदार हथियारों से हत्या कर दी। घटना का खुलासा मंगलवार को अनायास उस वक्त हुआ जब पुलिस के हत्थे चढ़े एक अभियुक्त ने यह कुबूल किया कि दो दिन पहले उन्होंने उदाली गांव के तीन लोगों की हत्या कर उनके जेवर लूट थे।

सूचना पर संबंधित थाने की पुलिस मौके पर पहुंची तो वहां हृदय विदारक नजारा सामने आया। घटनास्थल एकदम निर्जन में होने से गांव वालों तक को इस घटना की भनक नहीं लग पाई थी। इधर, घटना की पुष्टि होने पर पुलिस ने आरोपी से सख्ती से पूछताछ की तो उसने यह कहकर पुलिस को चौंका दिया कि वह इससे पहले भी दो हत्याएं कर चुका है। पुलिस उसको सीरियल किलर मान रही है। आरोपी के बयान के आधार पर पुलिस ने इस ताजी वारदात में उसके एक साथी को भी गिरफ्तार कर लिया है।

मंगलवार को घटनास्थल पर पुलिस पहुंचीं तो वहां तीनों के शव पड़े मिले

पुलिस के अनुसार घटना दो दिन पुरानी है। इसका खुलासा तब हुआ जब टनकपुर से गायब किशोर का मोबाइल बेचने के मामले में वांछित प्रीतम सिंह को पुलिस ने अचानक पकड़ लिया। पूछताछ के दौरान उसने खुद सिलाड़ ग्राम पंचायत के उदाली गांव के चाचड़ी तोक निवासी कृष्ण सिंह (58) पुत्र चंद्र सिंह, उनकी पत्नी मनु देवी (50) और कृष्ण की मां पार्वती देवी (85) की हत्या का खुलासा किया। इससे पुलिस में हड़कंप मच गया।

इसके बाद चंपावत, चल्थी और टनकपुर से पुलिस टीमें आरोपी के बताए पते के आधार पर मंगलवार को घटनास्थल पर पहुंचीं तो वहां तीनों के शव पड़े मिले। पुलिस ने हत्या मेें प्रयुक्त दरांती, फावड़े आदि भी बरामद कर लिए हैं। मौके पर सीमेन पड़ा होने से पुलिस को हत्या से पहले गृहस्वामी की पत्नी के साथ दुष्कर्म होने का भी संदेह है। 

पुलिस ने मुख्य हत्यारोपी प्रीतम सिंह (42) निवासी फुलकोट, बकोड़ा, मंच तामली (चंपावत), हाल निवास गैड़ाखाली टनकपुर और उसके साथी विशाल सिंह निवासी हरिपुरकला रायवाला, देहरादून को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने दोनों के खिलाफ धारा 302 समेत कई अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस के अनुसार प्रीतम सिंह ने हरिद्वार में एक महिला और टनकपुर में रुद्रपुर के किशोर की हत्या की बात भी कबूली है।  

बताया जा रहा है आरोपी हत्या करने से पहले तीन-चार दिनों से क्षेत्र में दिखाई दे रहे थे और कृष्ण सिंह के घर पर ही रह रहे थे। घटनास्थल का जायजा लेने पहुंचे पुलिस अधीक्षक धीरेंद्र गुंज्याल के अनुसार आरोपियों ने लूटपाट के दौरान इस तिहरे हत्याकांड को अंजाम दिया। आरोपियों ने पार्वती देवी को दुमंजिले कमरे में जाकर मौत के घाट उतारा। कृष्ण सिंह और उनकी पत्नी मनु देवी की हत्या मकान के पहले तल में की। इसके बाद पति-पत्नी के शवों को घास से ढक दिया था। मौके पर मिले सीमेन के नमूने ले लिए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

प्रेमिका को फंसाने के लिए युवक ने ले ली दोस्त की जान, जाने पूरा मामला

यूपी के आजमगढ़ में एक युवक ने अपनी