Chhath Puja 2020: छठ पूजा पर करें यह 8 काम, छठी मइया उसकी हर मनोकामना करेंगी पूरी

लखनऊ। चार दिनों तक चलने वाले छठ महापर्व (Chhath Puja 2020) की शुरूआत हो चुकी है। आज छठ का दूसरा दिन यानी खरना (Kharna 2020) मनाया जा रहा है। छठ पूजा का व्रत सबसे कठिन व्रतों में से एक है और इसे कड़े नियमों (Chhath Puja Rules)के साथ किया जाता है। मान्यता है कि जो भी इन नियमों का सही ढंग से पालन करता है, छठी मइया उसकी हर मनोकामना पूरी करती हैं। आइए जानते हैं कौन से हैं वो काम जिन्हें छठ पूजा में करना फलदायी माना जाता है।

सफाई का विशेष ध्यान

छठ पूजा में सफाई का विशेष महत्व होता है। कहा जाता है कि गंदगी में पूजा करने वालों को इसका फल नहीं मिलता है। इसलिए छठ पूजा में सफाई का खास ध्यान रखें और अपने घर में सात्विकता का माहौल बनाए रखें, अगर आप छठ पूजा के लिए प्रसाद बना रहे हैं तो विशेष सावधानियां बरतें, अपने हाथ छोते रहें और इसे पूरी स्वच्छता के साथ बनाएं।

Ujjawal Prabhat Android App Download

जरूरतमंद लोगों की मदद करें

छठ पूजा में जरूरतमंद लोगों की मदद करने से छठी मइया प्रसन्न होती हैं। इस पूजा में बहुत सारी सामग्रियों का इस्तेमाल होता है। आप किसी ऐसे व्यक्ति की मदद कर सकते हैं जो छठ की पूजा का सामान खरीदने में असमर्थ हो, इससे आपको पुण्य की प्राप्ति होगी और आपकी पूजा फलदायी होगी।

व्रती महिला की सेवा करें

छठ पूजा का व्रत रखने वाली महिला को बहुत पवित्र माना जाता है। मान्यता है कि व्रती महिला की सेवा करने वालों पर छठी मइया बहुत प्रसन्न होती हैं और उसकी सारी मनोकामनाएं पूरी करती हैं। इसलिए छठ व्रत करने वाली महिला की सेवा करना फलदायी माना जाता है।

जमीन पर सोएं

जो महिलाएं छठ का व्रत करती हैं उन्हें इन चारों दिनों तक जमीन पर चादर बिछाकर सोना चाहिए। इन दिनों व्रती महिला को पलंग या तख्त पर सोने की मनाही होती है।

नए और साफ वस्त्र पहनें

छठ का व्रत करने वाली महिलाओं को चारों दिन नए और साफ वस्त्र पहनने चाहिए। खास बात ये है कि ये वस्त्र सिले हुए नहीं होने चाहिए। इस पूजा में महिलाएं साड़ी और पुरुष धोती पहनते हैं।

बांस के सूप का प्रयोग

छठ के पूजा में बांस के सूप का ही प्रयोग करें! इस बांस में ही छठी मइया को चढ़ाने वाली सारी सामग्री रखें, इस सूप में एक दिया जलाना भी शुभ माना जाता है।

लोगों में प्रसाद बांटे

छठ पूजा में प्रसाद का भी खास महत्व होता है। छठ पूजा का प्रसाद बहुत अधिक मात्रा में बनाना चाहिए ताकि इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों में बांटा जा सके, मान्यता है कि छठ का प्रसाद लोगों में बांटने से छठी मइया प्रसन्न होती है।

तांबे के लोटे से दें अर्घ्य

छठ पूजा में सूर्य को अर्घ्य देने की परंपरा है। सूर्य भगवान को जिस बर्तन से अर्घ्य देते हैं, उसका विशेष ध्यान रखें, व्रती महिलाओं को ये अर्घ्य तांबे के लोटे में ही देना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button