Home > राज्य > हरियाणा > केंद्र सरकार ने यमुना पर पुल बनाने की दी मंजूरी, 20 मिनट में पहुंच जाएंगे यूपी

केंद्र सरकार ने यमुना पर पुल बनाने की दी मंजूरी, 20 मिनट में पहुंच जाएंगे यूपी

उत्तर प्रदेश और हरियाणा की दूरी कम करने के लिए केंद्र सरकार ने यमुना पर 80 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले पुल को मंजूरी दे दी है। इसका निर्माण बरसात के बाद शुरू किया जाएगा। इसे दो साल में पूरा करने को कहा गया है। इसकी लंबाई 900 मीटर होगी। अब पानीपत के समालखा के रास्ते यूपी में बागपत के गांव कुर्डी नांगल से जाने वाले लोगों को करीब 50 किलोमीटर के बजाय 3 किलोमीटर की ही दूरी नापनी होगी। पहले इसके लिए दो घंटे से अधिक समय व्यतीत करना पड़ता था, लेकिन अब 20 मिनट में ही दूर तय की जा सकेगी। 

प्रदेश सरकार ने केंद्र सरकार को समालखा से जोड़ने वाले मार्ग पर यमुना नदी पर पुल बनाने का प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजा था। केंद्र सरकार ने इस पुल की मंजूरी देते हुए प्रदेश सरकार को बनवाने का जिम्मा दिया है। प्रदेश सरकार की ओर से भी इसके निर्माण को हरी झंडी मिल गई है।

प्रदेश में अब तक जो भी पुल यमुना पर बने हैं, उनकी अधिकतम लंबाई 500 मीटर है। अब बनने वाले पुल की लंबाई नौ सौ मीटर होगी। अभी यमुना पर पानीपत से सनौली पुल बना हुआ है। नए पुल से इसकी दूरी 24 किमी होगी। जबकि सोनीपत से बागपत को जोड़ने वाले पुल की दूरी 26 किमी होगी। 

खोजकीपुर पंचायत की जमीन पर बनेगा पुल
खोजकीपुर पंचायत की शामलात जमीन पर इसका निर्माण किया जाएगा। पंचायत की ओर से पुल बनवाने का प्रस्ताव पास किया गया है। उपायुक्त की ओर से इस प्रस्ताव को मुख्यालय भेज दिया गया है। 

दोनों पुल हो गए थे पुराने : इंजीनियरिंग विंग के अधिकारी मानते हैं कि दोनों पुल पुराने हो गए हैं। यह पुल 50 साल से अधिक पुराने हैं। इनसे अधिक वजन के वाहनों को नहीं निकाला जा सकता है। आने वाले समय में कोई आपात स्थिति न पैदा हो उसे ध्यान में रखते हुए पुल का निर्माण किया जा रहा है।

पुल का निर्माण होने से रिश्ते भी होंगे मजबूत
यूपी व हरियाणा की सीमा में रहने वालों की आसपास के गांव में रिश्तेदारियां भी हैं। गर्मी में लोग बांध से निकल जाते थे। बारिश होते ही चार माह तक लोग रिश्तेदारियों में नहीं आते थे। इस पुल के पास बसे गांव में आने-जाने में तीन घंटे से अधिक का समय लग जाता था। 

120 फीट गहरी होगी नींव, 16 लाख क्यूसिक पानी के बहाव की क्षमता
बनने वाले पुल में 19 पिलर होंगे। एक पिलर से दूसरे पिलर की दूरी 33 मीटर होगी। इसकी नींव 120 फीट गहरी होगी। इसकी क्षमता 16 लाख क्यूसेक पानी की होगी। इंजीनियरिंग के लिहाज से अब तक बने पुल में सबसे बेहतर होगा।  

इसे भी जाने-
– समालखा से हथवाला रोड, हथवाला रोड से डिकार्ला, डिकार्ला से आटा, आटा से यमुना बांध। 
– पुल के बाद यूपी की सीमा में साढ़े पांच किमी लंबी सड़क बनेगी। इसे नांगल गांव तक जोड़ा जाएगा। 
– पुल की चौड़ाई 10 मीटर होगी जबकि बनने वाली सड़क सात मीटर चौड़ी होगी। 

खोजकीपुर पंचायत पर बनने वाले पुल की मंजूरी मिल गई है। बारिश के बाद इसका निर्माण शुरू किया जाएगा। निर्धारित अवधि के दौरान इसे पूरा कर जनता को सौंपा जाएगा। 

Loading...

Check Also

भतीजे ने की नई पार्टी की तैयारी पूरी तो चाचा ने दिया घर वापसी का ऑफर

भतीजे ने की नई पार्टी की तैयारी पूरी तो चाचा ने दिया घर वापसी का ऑफर

 इनेलो सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला के पौत्र दुष्यंत चौटाला और दिग्विजय चौटाला ने अपनी नई पार्टी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com