UP की मेरा हक फाउंडेशन की मुस्लिम महिलाओं के साथ मौन होकर अटल जी के निधन पर मनाया शोक

बरेली। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन से मुस्लिम समाज भी गमजदा है। शुक्रवार को शहर में मेरा हक फाउंडेशन की मुस्लिम महिलाओं के साथ ही कई मुस्लिम संगठनों ने उनके निधन पर शोक जताया। दो मिनट का मौन रखकर उन्हें श्रद्धांजलि दी। तलाक, हलाला पीडि़ताओं की लड़ाई लड़ रहीं फरहत नकवी के मेरा हक फाउंडेशन की ओर से गढिय़ा मुहल्ला में शोकसभा आयोजित हुई। इस दौरान मुस्लिम महिलाओं ने पूर्व प्रधानमंत्री के चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

शोकसभा में नफीसा बानो, परवीन फातिमा, शहनाज, रेशमा व मुन्नी आदि मौजूद रही। वहीं राबिया जनसेवा वेलफेयर सोसायटी की ओर से फाईक एन्क्लेव स्थित कार्यालय पर श्रद्धांजलि सभा हुई। सोसायटी सचिव राबिया अख्तर ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी हर वर्ग को साथ लेकर चलते थे, इसलिए सभी समाज के लोकप्रिय नेता रहे। उनके निधन से देश को क्षति हुई है। इस मौके पर परवेज अख्तर, रेहाना बी, नाजिया अख्तर, सनत अख्तर, रकत अख्तर, नरगिस खान आदि मौजूद रहे। 

मेरा हक फाउंडेशन से मांगी मदद 

मेरा हक फाउंडेशन के मुख्य कार्यालय पर मुस्लिम महिलाओं को मदद पहुंचाने के लिए कैंप का आयोजन किया गया। जिसमें प्रधानमंत्री आवास योजना, पेंशन, राशन कार्ड और अन्य सरकारी योजनाओं में लाभ दिलाने के लिए महिलाओं को जानकारी दी गई। उनके फार्म भरवाए गए। मेरा हक फाउंडेशन के अध्यक्ष फरहत नकवी ने बताया कि शहर और आसपास से आई तमाम महिलाओं ने अपनी समस्या रखी है। सरकारी योजनाओं का लाभ देने के लिए महिलाओं के फार्म भरवाए गए हैं। जो विधवा हैं उन्हें पेंशन योजना दिलाने के लिए और जिनके पास आवास नहीं है उन्हें प्रधानमंत्री आवास दिलाने के लिए मदद की जाएगी। कैंप में काफी संख्या में महिलाओं ने भाग लेकर अपनी समस्या सुनाई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

कानपुर के विवादित शेल्टर होम सुभाष चिल्ड्रेन से 3 बच्चे हुए लापता, जिला प्रशासन हैरान

कानपुर की विवादित एनजीओ सुभाष चिल्ड्रेन शेल्टर होम