कैप्टन का घर जलाने वालों ने ही मुझ पर किया जानलेवा हमला: कांग्रेस अध्यक्ष अशोक तंवर

चरखी दादरी। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अशोक तंवर ने कहा कि जिन लोगों ने मुझ पर षड्यंत्र के तहत जानलेवा हमला किया था, उन्हीं लोगों ने फरवरी 2016 में आरक्षण आंदोलन के दौरान सुनियोजित तरीके से वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु के घर में आग लगाई थी। इस मामले की उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए। उनका इशारा पूर्व सीएम हुड्डा की ओर था।कैप्टन का घर जलाने वालों ने ही मुझ पर किया जानलेवा हमला: कांग्रेस अध्यक्ष अशोक तंवर

तंवर यहां कांग्रेस के प्रदेश सचिव अजीत फौगाट के कार्यालय के उद्घाटन करने के बाद पत्रकारों से बात कर रहे थे। उन्होंने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि प्रदेश सरकार दोनों केस में सिर्फ दिखावे के लिए जांच कर रही है, जिससे भाजपा का हरियाणा में असली चेहरा सामने आ गया है।

तंवर ने कहा कि राजस्थान पैटर्न की बजाए हरियाणा में नई योजना बनाकर चुनाव लड़ा जाएगा। जो रेस में आगे होगा, चाहे वह किसी पार्टी से आए या कोई और हो, उसे टिकट मिलेगी। मुझे टिकट मिले या ना मिले, लेकिन मेहनती कार्यकर्ताओं को टिकट जरूर दिलाएंगे। तंवर ने कहा कि इस बार कांग्रेस द्वारा 80 से ज्यादा विधानसभा व सभी 10 लोकसभा सीटें जीतने के लिए मेहनत की जा रही है। गुटबाजी के सवाल पर तंवर ने कहा कि कांग्रेस में कोई गुटबाजी नहीं है। सब अपने-अपने तरीके से पार्टी को मजबूत बनाने के लिए मेहनत कर रहे हैं।

तंवर ने इनेलो के जेल भरो आंदोलन पर कटाक्ष करते हुए कहा कि भाजपा की बी पार्टी इनेलो जेल भरो आंदोलन का ढोंग कर रही है। अब तक कोई नेता जेल में ही नहीं गया। एसवाईएल नहर का पानी सिर्फ कांग्रेस ही हरियाणा में लाएगी। तंवर ने कहा कि लोकसभा चुनाव को लेकर पार्टी द्वारा हरियाणा के सभी लोकसभा क्षेत्रों के ऑब्जर्वरों को जिम्मेदारी सौंपी थी। रिपोर्ट मिलने के बाद वह उसे हाईकमान को सौंप देंगे। इसके बाद तंवर ने अजीत फौगाट की भतीजी के जन्मोत्सव पर आयोजित कार्यक्रम में शिरकत भी शिरकत की। इस अवसर पर पूर्व आइएएस प्रदीप कासनी, अजीत फौगाट, पूर्व एचसीएस सतबीर ङ्क्षसह लोहचब सहित अन्य उपस्थित रहे।

तंवर ने बहादुरी दिखाई, अपनी पार्टी के तत्वों को किया बेनकाब : धनखड़

उधर, प्रदेश के कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने कहा कि कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने अपनी ही पार्टी के उन तत्वों की तरफ इशारा करते हुए काफी बहादुरी का काम किया है, जिन्होंने हरियाणा को जलाया था। धनखड़ ने कहा कि जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान आरक्षण मांगने वाले लोग शांतिप्रिय थे, जबकि कांग्रेसियों ने ही आंदोलन के दौरान आगजनी की घटनाओं को अंजाम दिया था।

विश्राम गृह में पत्रकारों से बातचीत में मंत्री धनखड़ ने कहा कि सत्ता जाने की निराशा से ही आरक्षण आंदोलन के दौरान कांग्रेसियों ने इस तरह की घटनाएं करवाई। उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री पर निशाना साधते हुए  कहा कि इस प्रकार के आंदोलनों का गढ़ हुड्डा का चुनावी क्षेत्र ही क्यों होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

यूपी: बहराइच में अब तक 70 से अधिक बच्चों की मौत, देखने पहुंचे डॉ. कफील खान अरेस्ट

उत्तर प्रदेश के बहराइच में संक्रमण के साथ