दुबई के लिए निकले अर्जुन कपूर

- in मनोरंजन

बॉलीवुड की लिजेंडरी एक्‍ट्रेस श्रीदेवी के निधन के तीन बाद भी उनका पार्थिव शरीर भारत नहीं आ पाया है. फोरेंसिक जांच के बाद मामला प्रोसेक्यूशन को सौंपा गया है. दुबई में बोनी कपूर से पूछताछ भी हुई है. रिपोर्ट्स के मुताबिक़ श्रीदेवी की मौत में दुबई प्रशासन हर एंगल से मामले की जांच के बाद ही पार्थिव शरीर कपूर परिवार को सौंपेगा. इस वक्त कपूर परिवार, भारतीय दूतावास के प्रतिनिधि दुबई की अथॉरिटीज के साथ संपर्क में हैं. लगातार बातचीत हो रही है. अर्जुन कपूर मंगलवार को दुबई पहुंच गए हैं. यह उनकी टीम ने इसकी पुष्टि की है. यहां उनके परिजन श्रीदेवी के पार्थिव शरीर का इंतजार कर रहे हैं.आइए जानते हैं श्रीदेवी के साथ अर्जुन कपूर के रिश्ते कैसे थे….

श्रीदेवी एक्टर अर्जुन कपूर की सौतेली मां थीं. अर्जुन कपूर जब 11 साल के थे तब उनके पिता बोनी कपूर ने श्रीदेवी से दूसरी शादी की थी. कहा जाता है कि तब से अर्जुन और उनके पिता के परिवार के साथ रिश्ते अच्छे नहीं रहे. अर्जुन और श्रीदेवी के बीच का रिश्ता हमेशा से बी टाउन की गॉसिप का टॉपिक रहा है.

वायरल वीडियो: दुबई वेडिंग में अनिल कपूर संग श्रीदेवी का देखें आखिरी डांस

अर्जुन ने टाइम्स ग्रुप को दिए एक इंटरव्यू में कहा था, श्रीदेवी और बोनी कपूर के साथ मेरे संबंध के कई आयाम हैं. मैं हमेशा आगे देखता हूं. मैं इस बात को लेकर नहीं सोचता कि क्या हो सकता था और क्या होना चाहिए था. अर्जुन कपूर ने कहा था- उनके (श्रीदेवी) साथ संबंध काफी अच्छा है. मैं अपने पिता की जिंदगी में मौजूद किसी भी शख्स का आदर करता हूं. क्योंकि वे ऐसा उम्मीद करते हैं. इसलिए मैं उनका आदर करता हूं. मैं बुरा नहीं चाहता हूं.

इस सवाल के जवाब में क्या करिअर को लेकर श्रीदेवी से उनकी बात हुई है, अर्जुन ने कहा था- मैं कभी भी उनके साथ आमने-सामने नहीं बैठा और न ही बात की कि उन्हें मेरा काम कैसा लगता है.

श्रीदेवी की बेटी यानी सौतेली बहनों के साथ अपने रिश्तों को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में एक वेबसाइट को अर्जुन कपूर ने बताया था कि वे कभी जाह्नवी और खुशी कपूर से मिलते नहीं है इसलिए इनके साथ कोई संबंध ही नहीं है.

अर्जुन अपनी फैमिली के बारे में कम ही बात करते हैं. अर्जुन की अपनी र्स्वगवासी मां के साथ काफी अच्छी बॉन्डिंग थी और उनके मरने के बाद अर्जुन अपनी बहन और दादी के काफी करीब हैं. मां की मौत के बाद अर्जुन के ऊपर उनकी बहन की सारी जिम्मेदारी आ गई और रातों-रात वह अपनी बहन के पैरेंट बन गए थे जिसके लिए वह उस वक्त तैयार नहीं थे. लेकिन दोनों भाई-बहन ने एक-दूसरे को संभाला और इन्हें अक्सर ही साथ में हैंगआउट करते देखा जा सकता है.

इससे पहले अर्जुन कपूर ने एक इंटरव्यू में स्पष्ट कहा था कि उनके लिए श्रीदेवी पिता बोनी कपूर की पत्नी से ज्यादा कोई अहमियत नहीं रखती हैं. वहीं, जाह्नवी और खुशी के साथ रिश्ते के बारे में पूछे जाने पर अर्जुन कपूर ने साफ कहा था कि, ‘हमारी मुलाकात नहीं होती है और हम कभी भी एक साथ टाइम नहीं बिताते हैं, इसलिए यह रिश्ता मेरे लिए एग्जिस्ट ही (अस्तित्व में ही नहीं) नहीं करता है.’

 
 

 

 
 

You may also like

जाह्नवी कपूर की इस ड्रेस को देखकर लोगो के उड़े होश, तस्वीरे देख पागल हो जाएगे

दोस्तों बॉलीवुड की पहली सुपर स्टार रहा चुकी