पंजाब में मसाज पार्लर के नाम में चल रहा था ये धंधा, ग्राहकों को मिलता है खास ट्रीटमेंट

- in अपराध

अमृतसर। विदेशों से टूरिस्ट वीजा पर पहुंचने वाली कुछ विदेशी महिलाएं शहर के मसाज पार्लरों पर ग्राहकों को मसाज के विदेशी ट्रीटमेंट से लुभा रही हैं। ये महिलाएं यहां घूमने के साथ-साथ मोटी कमाई कर विदेश लौटती हैं। फॉरेन रीजनल रजिस्ट्रेशन आफिसर (एफआरआरओ) के नोटिस में आने के बाद उन्हें डिपोर्ट कर दिया जाता है।पंजाब में मसाज पार्लर के नाम में चल रहा था ये धंधा, ग्राहकों को मिलता है खास ट्रीटमेंट

सौ से ज्यादा विदेशी युवतियाें को किया जा चुका है डिपोर्ट, एफआरआरओ की विदेशी टूरिस्टों पर नजर

अमृतसर में पिछले समय के दौरान एसी 100 से ज्यादा महिलाओं को उनके देशों में डिपोर्ट किया जा चुका है। इन्हें डिपोर्ट करने के साथ ही इनके पासपोर्ट पर फॉरेन रीजनल रजिस्ट्रेशन अधिकारी मंजीत सिंह विशेष नोट लिख देते हैं जिसके बाद अगली बार इनके भारत में टूरिस्ट वीजे पर आना मुश्किल हो जाता है।

शहर के कुछ होटलों में मसाज पार्लर खुले हुए हैं। वहीं शहर के मुख्य बाजारों में भी इस तरह के पार्लर खुले हुए हैं। वैसे तो इनमें सामान्य मसाज की सेवाएं ही ग्राहकों को मुहैया करवाई जाती हैं, लेकिन कुछ पार्लरों में बाहरी राज्यों के अलावा विदेशी लड़कियां इस काम को अंजाम देती हैं।

शहर के धनाढ्य की पहली पसंद थाई और रूस की युवतियां होती हैं। पार्लर के मालिक इसके लिए टूरिस्ट वीजा पर पहुंचने वाली युवतियाें को गुपचुप तरीके से अपने यहां कुछ दिनों के लिए काम पर रख लेते हैं। पकड़े जाने पर जहां इन्हें डिपोर्ट किया जाता है, वहीं जिन पार्लरों से यह पकड़ी जाती हैं, उन्हें भी नोटिस जारी किया जाता है।

एफआरआरओ मंजीत सिंह ने कुछ समय पहले दावा किया था कि टूरिस्ट वीजे पर आने वाली हर विदेशी महिला पर नजर रहती है। उन्होंने तब यह भी दावा किया था कि इस साल में अभी तक 100 से ज्यादा लड़कियों को डिपोर्ट कर चुके हैं और 3-4 ऐसे पार्लर वालों को चेतावनी नोटिस भी जारी कर चुके हैं। हालांकि आज जब उनके मोबाइल नंबर पर संपर्क करने की कोशिश की तो उन्होंने दैनिक जागरण का नाम सुनते ही फोन काट दिया।

एफआरआरओ ऑफिस में तुरंत सूचना दी जाती है

एफआरआरओ ऑफिस से लगातार संपर्क रखा जाता है और समय-समय पर उनसे इस बाबत बैठक भी की जाती है। टूरिस्ट वीजे पर आने वाली विदेशी लड़कियों के किसी विशेष होटल में ज्यादा दिन रहने पर उसे चेक भी किया जाता है। इस दौरान उन्हें अगर टूरिस्ट वीजे पर लड़की काम करती मिलती है तो तुरंत इसकी सूचना एफआरआरओ ऑफिस में दे दी जाती है, ताकि उन्हें डिपोर्ट किए जाने की कार्रवाई हो सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

पति के बांध दिए हाथ और फिर उसी के सामने पत्नी के साथ करने लगे…

सरायकेला-खरसावां जिले में विराजपुर रेलवे स्टेशन के नजदीक