बसपा ने 2019 लोकसभा चुनाव को जीतने के लिए बनाई कुछ ऐसी रणनीति

लखनऊ। पूर्व मुख्यमंत्री और बसपा प्रमुख मायावती ने रविवार को केंद्र सरकार पर लोकसभा चुनाव समय से पहले कराने की साजिश के आरोपों के बीच जमीनी स्तर पर रणनीति बनाने की कोशिशें शुरू कर दी हैं। सोमवार को बसपा के जोन स्तरीय कार्यकर्ता सम्मेलन में संगठन को मजबूत कर मायावती को पीएम बनाने की हुंकार भरी गई।बसपा ने 2019 लोकसभा चुनाव को जीतने के लिए बनाई कुछ ऐसी रणनीति

गोमतीनगर स्थित इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में एकदिनी जोन स्तरीय कार्यकर्ता सम्मेलन में पार्टी के दिग्गज नेताओं के अलावा राष्ट्रीय संयोजकों ने शिरकत की और कार्यकर्ताओं को जीत का मंत्र दिया। प्रदेश अध्यक्ष आरएस कुशवाहा के अलावा राष्ट्रीय महासचिव और राज्यसभा सदस्य वीर सिंह और राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व संयोजक जय प्रकाश सहित ने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। इस मौके पर पूर्व मंत्री नकुल दुबे और इम्तिजार आब्दी बाबी भी मौजूद रहे।

प्रदेश अध्यक्ष आरएस कुशवाहा ने कहा कि बहुजन समाज पार्टी सबको साथ लेकर चलने वाली पार्टी है। गरीब, पिछड़े और सर्वसमाज को केवल बसपा ने प्रतिनिधित्व दिया है। बाकी दूसरी पार्टियों ने केवल इस्तेमाल किया है। राष्ट्रीय कोऑर्डिनेटर वीर सिंह ने कहा कि कार्यकर्ता बसपा सरकार के समय की उपलब्धियों को लोगों तक पहुंचाएं। उन्हें बताएं कि कैसे मायावती के राज में कानून व्यवस्था सुधरी थी। विकास के काम हुए थे।

उछला विदेशी मूल का मुद्दा

बसपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जय प्रकाश ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर टिप्पणी कर नया बखेड़ा खड़ा कर दिया। दरअसल बसपा नेता ने भाषण के दौरान इशारों-इशारों में सोनिया के साथ-साथ राहुल के भी विदेशी होने का मुद्दा उछाल दिया। जय प्रकाश ने कहा कि राहुल गांधी भी देश के नेता बनने का सपना देख रहे हैं। अगर वह अपने पिता (राजीव गांधी) पर गए होते तो संभावना हो सकती थी लेकिन मां (सोनिया गांधी) पर जाने से वह भी विदेशी की तरह दिखते हैं इसलिए कोई उम्मीद नहीं है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बटुक भैरव देवालय में भादों का मेला 23 सितम्बर को

 अभिषेक के बाद होगा दर्शन का सिलसिला, नए