ब्रिटेन ने ईरान से यमन विद्रोहियों को हथियार नहीं देने का आग्रह किया

ब्रिटेन ने ईरान से अनुरोध किया कि वह यमन में हथियारों की आपूर्ति को बंद करे और अपने प्रभाव का इस्तेमाल संघर्ष को खत्म करने के लिए करे. सऊदी अरब यमन सरकार की हिमायत में और ईरान समर्थित हुती विद्रोहियों के खिलाफ हवाई हमलों की अगुवाई कर रहा है. संयुक्त राष्ट्र ने पाया है कि ईरान हुती विद्रोहियों को मिसाइल और ड्रोन की आपूर्ति रोकने में विफल रहा है.

एक संयुक्त बयान में ब्रिटेन के विदेश मंत्री बोरिस जॉनसन और अंतरराष्ट्रीय विकास मंत्री पेनी मोरडउंट ने ईरान से अपने रूख में बदलाव करने का आग्रह किया है.

बयान में उन्होंने कहा कि अगर ईरान वास्तव में यमन में राजनीतिक समाधान चाहता है जैसा उसने सार्वजनिक तौर पर कहा है, तो उसे हथियारों की आपूर्ति रोकनी चाहिए जो संघर्ष को लंबा खींच रही है, क्षेत्रीय तनाव को बढ़ा रही है और अंतरराष्ट्रीय शांति एवं सुरक्षा के लिए खतरा पैदा कर रही है.

ट्रंप के साथ बिताए समय की पोर्न स्टार ने सुनाई दास्तां, डर की वजह भी बताई

इसमें कहा गया है कि हम सवाल करना चाहते हैं कि ईरान ऐसे देश को क्यों धन भेज रहा है जिसके साथ उसके वास्तविक ऐतिहासिक संबंध या हित नहीं है बल्कि इसे अपने प्रभाव का इस्तेमाल संघर्ष को खत्म करने के लिए करना चाहिए जो यमन के लोगों के लिए अच्छा है.

 
 

 

You may also like

China के सबसे ‘शक्तिशाली’ व्‍यक्ति की चेतावनी, ट्रेड वार से होगी सबसे ज्‍यादा बर्बादी

चीन के सबसे अमीर और शक्तिशाली व्‍यक्ति जैक मा ने