भाजपा का आरोप, विपक्ष के इशारे पर चल रहा किसान और कर्मचारी आंदोलन

चंडीगढ़। हरियाणा भाजपा के अध्यक्ष सुभाष बराला ने राज्य में चल रहे किसान और कर्मचारी आंदोलनों को कांग्रेस व इनेलो की देन बताया। बराला ने आरोप लगाए कि दोनों दल कर्मचारियों और किसानों को गुमराह कर भड़का रहे हैैं। उन्होंने किसानों को बातचीत का न्यौता देते हुए उम्मीद जताई कि अगले कुछ दिनों में दोनों आंदोलनों पर काबू पा लिया जाएगा।भाजपा का आरोप, विपक्ष के इशारे पर चल रहा किसान और कर्मचारी आंदोलन

चंडीगढ़ स्थित हरियाणा निवास में पत्रकारों से रूबरू सुभाष बराला, उमेश अग्रवाल और राजीव जैन ने केंद्र की मोदी सरकार का चार साल का रिपोर्ट कार्ड पेश किया। उन्होंने करीब डेढ़ दर्जन योजनाओं की जानकारी देते हुए बताया कि हरियाणा में विशेष संपर्क अभियान के तहत बुद्धिजीवी लोगों को सरकार के कामकाज से वाकिफ कराया जा रहा है।

सुभाष बराला के अनुसार 9 से 11 जून तक बूथ स्तर पर विशेष संपर्क अभियान चलेगा। भारतीय जनता युवा मोर्चा के कार्यकर्ता मंडल स्तर पर बाइक रैलियां निकालेंगे, जिसकी तारीख जल्द घोषित होगी। उन्होंने विपक्ष के नेता अभय चौटाला पर हमला बोलते हुए कहा कि भाजपा राज में किसी माफिया को संरक्षण नहीं दिया जाता। चौटाला झूठ की दुकान चलाते हैैं। सिर्फ इसलिए यह आरोप लगा रहे हैैं, क्योंकि उनके राज में ऐसा होता आया है।

बराला ने कहा कि राज्य में हो रहे किसान आंदोलन में आम किसान इसका हिस्सा नहीं है। यह राजनीतिक दलों द्वारा प्रायोजित आंदोलन है, जिसे जल्द काबू कर लिया जाएगा। उन्होंने आम आदमी पार्टी के दिल्ली मॉडल को हरियाणा में लागू किए जाने की योजना पर कहा कि सभी लोग जानते हैैं कि दिल्ली की जनता कितनी प्रताडि़त और दुखी है। इसलिए अरविंद केजरीवाल को यहां चलने नहीं देगी।

उन्होंने कहा कि भाजपा की मनोहर सरकार के कार्यकाल में हर वर्ग के लिए इतना कुछ किया जा चुका, जितना आज तक पिछली सरकारें अपने समस्त कार्यकाल में भी नहीं कर पाई हैैं। उन्होंने हुड्डा पर किसानों को गुमराह करने के आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस नेता अपने अस्तित्व की लड़ाई लड़ रहे हैैं।

सम्बंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

रेवाड़ी गैंगरेप मामले में जानकारी छिपाने के आरोप में एक और फौजी उड़ीसा से हुआ गिरफ्तार

रेवाड़ी गैंगरेप मामले में एसआईटी ने एक अन्य