दिल्ली सरकार के खिलाफ वर्षा जोशी के समर्थन में भाजपा महिला मोर्चा ने किया प्रदर्शन

नई दिल्ली। परिवहन सचिव वर्षा जोशी और दिल्ली सरकार के बीच चल रहे विवाद में ने अब पूरी तरह से राजनीतिक रंग ले लिया है। सोमवार को वर्षा जोशी के समर्थन में भाजपा महिला मोर्चा ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया। दिल्ली विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजेंद्र गुप्ता पहले ही परिवहन विभाग में चल रहे विवाद को लेकर केजरीवाल सरकार के खिलाफ मोर्चा खोले हुए हैं। उधर परिवहन विभाग की कर्मचारी एसोसिएशन ने भी दिल्ली के परिवहन मंत्री से मांग की है कि वह वर्षा जोशी की बेइज्जती करने के लिए उनसे माफी मांगे।दिल्ली सरकार के खिलाफ वर्षा जोशी के समर्थन में भाजपा महिला मोर्चा ने किया प्रदर्शन

पूरा मामला ये है कि दिल्ली विधानसभा के मानसून सत्र को लेकर नेता प्रतिपक्ष विजेन्द्र गुप्ता ने परिवहन विभाग से संबंधित एक सवाल पूछा था। उन्होंने पूछा कि गत दिनों मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने परिवहन विभाग की बुराड़ी अथॉरिटी का दौरा किया था। निरीक्षण के दौरान उन्हें क्या अनियमितताएं मिलीं थीं। इसके जवाब को अंतिम रूप देने के दौरान शुक्रवार शाम सचिवालय में परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत और 1995 बैच की आइएएस परिवहन सचिव वर्षा जोशी के बीच नोंकझोंक हो गई थी।

सवाल के जवाब में परिवहन सचिव ने लिखा था, नहीं। इस पर मंत्री ने कहा कि वहां दलालों के घूमने, बिना पैसे काम नहीं करने व भ्रष्टाचार की बात लिखी जानी चाहिए। आरोप है कि मंत्री अपने हिसाब से जवाब तैयार कराना चाहते थे, जिससे सचिव ने इनकार कर दिया था। इस पर मंत्री ने वर्षा जोशी के खिलाफ टिप्पणी की थी। इसके बाद से ये मामला तूल पकड़ा हुआ है।

सोमवार को वर्षा जोशी के समर्थन में भाजपा महिला मोर्चा ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत के खिलाफ महात्मा गांधी मार्ग पर पैदल मार्च किया। इस दौरान महिला मोर्चा की सदस्य हाथ में दिल्ली सरकार के खिलाफ बैनर-पोस्टर लिए हुए थीं। महिलाओं ने मुख्यमंत्री और परिवहन मंत्री के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए वर्षा जोशी से माफी मांगने की मांग रखी।

मंत्री ने कहा था नौकरी करना सिखा दूंगा

बैठक में मौजूद अफसरों के अनुसार 1995 बैच की आइएएस वर्षा जोशी ने मंत्री से कहा था कि बुराड़ी में जब सीएम आए थे तो वहां कुछ नहीं था। सिर्फ ये बोल देने से नहीं होगा कि सब भ्रष्ट हैं। इस पर मंत्री ने कहा- मुझे मत सिखाओ। करप्शन में तुम्हें पकड़वा दूंगा। नौकरी करना सिखा दूंगा। परिवहन मंत्री की तरफ से अनियमितता की बात लिखने का दबाव बनाया गया। इस पर सचिव ने कहा मुख्यमंत्री ने जो नोट दिया है, उसे लगा देते हैं तो मंत्री भड़क गए, कहा- बहुत ज्यादा बोल रही हो, लिमिट में रहो। इस पर मंत्री ने जोशी को बाहर जाने को कहा, मगर मंत्री ही उठकर चले गए। जाते-जाते अफसरों से बोल गए कि इसे अंदर मत आने देना, मेमो दे दो।

वर्षा जोशी ने 63 ट्वीट कर मामले में सफाई दी

रविवार को पहली बार विभाग की सचिव वर्षा जोशी ने अपनी बात रखी। उन्होंने एक के बाद एक 63 ट्वीट कर अपनी सफाई दी। उन्होंने दावा किया कि उनका विभाग मुख्यमंत्री के निर्देश के तहत ही काम कर रहा है। इसके बावजूद उन्हें परेशान किया जा रहा है। हां इतना जरूर है कि नियमों के खिलाफ जाकर मैं कोई काम नहीं करना चाहती।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के निर्देश पर अधिकारियों को मेमो देते हुए दलालों के खिलाफ एफआइआर दर्ज करवाई गई। इसके अलावा वह समय-समय पर सभी एमएलओ (मोटर लाइसेंसिंग ऑफिसर) कार्यालयों का दौरा कर रही हैं। उन्होंने कहा कि सीएम के वीडियो में एक व्यक्ति जो भ्रष्टाचार के नाम पर आवाज उठा रहा है, वास्तव में वह बड़ा दलाल माना जाता है। उनके चर्चे हैं। उसके खिलाफ 2016 में एफआइआर भी दर्ज कराई गई है।

उन्होंने कहा कि किसी भी आरोप की जांच सत्यता के आधार पर की जानी चाहिए। किसी वीडियो मात्र से अंतिम फैसला नहीं लिया जा सकता। जांच कागजों के आधार पर ही होगी। विभाग से जुड़े विभिन्न कामों को ईमानदारी से कर रही हूं। स्पीड गवर्नर लगाने, ऑटो में जीपीएस लगाने, कोर्ट के आदेश पर दस हजार ऑटो परमिट जारी करने सहित अन्य दिशा में काम किया जा रहा है।

नहीं हूं भाजपा की एजेंट

जोशी ने एक ट्वीट का जवाब देते हुए कहा कि मैं भाजपा की एजेंट नहीं हूं। वही काम कर रही हूं जो नियम के तहत है। उन्होंने लिखा कि मैंने दौरे के दौरान बुराड़ी में कुछ नहीं पाया था।

उद्घाटन के लिए समय नहीं

परिवहन सचिव ने ट्वीट कर कहा कि नजफगढ़ के झुलझुली गांव में स्वचालित फिटनेस परीक्षण केंद्र बनकर तैयार है। इसके औपचारिक उद्घाटन के लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल सहित मंत्री को अनुरोध किया जा चुका है, लेकिन उन्होंने समय नहीं दिया है। उन्होंने कहा कि हम फिटनेस के लिए स्कूल बसों और अन्य वाहनों को वहां भेज रहे हैं, लेकिन फीस में अंतर है। इसलिए हम सभी वाहन को भेजने में सक्षम नहीं हैं। फीस को बराबर करने के लिए पिछले साल एक प्रस्ताव भेजा गया था जो स्वीकृति के बिना सरकार ने वापस कर दिया। इसे फिर से जमा करेंगे।

आप ने बुराड़ी अथॉरिटी के भ्रष्टाचार को छिपाने का लगाया आरोप

वहीं, आम आदमी पार्टी ने आरोप लगाया है कि परिवहन सचिव वर्षा जोशी बुराड़ी अथॉरिटी में चल रहे भ्रष्टाचार को बचा रहीं हैं। पार्टी प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने वर्षा जोशी मामले में कहा कि जिस भी व्यक्ति के पास ऑटो, कैब, टेम्पो, बस जैसे वाणिज्यिक वाहन हैं, उन्हें अच्छी तरह से पता है कि बुराड़ी अथॉरिटी में कितना भ्रष्टाचार व्याप्त है।

प्रत्येक वाहन मालिक को हर साल एक फिटनेस प्रमाण पत्र प्राप्त करना होता है। यह कार्य एजेंटों और दलालों के बिना नहीं हो सकता है। यहां दलाल घूमते रहते हैं। उन्हें भुगतान करने के बाद आसानी से काम हो जाता है। यह बिना परिवहन विभाग के अधिकारियों की मिलीभगत के कैसे हो सकता है। उन्होंने कहा कि जब परिवहन सचिव के साथ मुख्यमंत्री बुराड़ी अथॉरिटी में दौरे पर गए थे, उस वक्त लोगों ने व्यापक रूप से भ्रष्टाचार की शिकायत की थी। इस मामले में मुख्यमंत्री ने संबंधित अधिकारियों को मेमो भी जारी किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

यूपी: भड़काऊ भाषण देने पर सपा के पूर्व सांसद के खिलाफ मामला दर्ज

बरेली जिला पुलिस ने सपा के पूर्व सांसद वीरपाल