छेदी पासवान ने बताया- बिहार में जेडीयू को बड़ा भाई नहीं मानेगी भाजपा

- in उत्तराखंड, राज्य

नैनीताल: रसायन और उर्वरक मामलों की संसदीय समिति में शामिल सांसदों की बयानबाजी ने 2019 के आम चुनावों में राज्यों के लिहाज से नए सियासी समीकरणों का संकेत दे दिया है। बिहार के सासाराम से सांसद छेदी पासवान ने तो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को सत्तालोलुप करार देते हुए जेडीयू को बिहार गंठबंधन में बड़ा भाई मानने से ही इन्कार कर दिया।छेदी पासवान ने बताया- बिहार में जेडीयू को बड़ा भाई नहीं मानेगी भाजपा

सरोवर नगरी पहुंची संसदीय समिति में शामिल भाजपा सांसद छेदी पासवान ने जेडीयू को बड़ा भाई और बिहार में एनडीए का चेहरा नीतीश को मानने से इन्कार करते हुए कहा कि शराबबंदी, मिट्टी पर पाबंदी जैसे फैसलों से नीतिश की छवि पर असर पड़ाहैं। किसानों की बदहाली के लिए पूर्ववर्ती सरकारों को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि परंपरागत के बजाय मिश्रित खेती, मत्स्य पालन से किसानों की आर्थिकी सुधरेगी। साफ किया कि यदि चुनाव में नीतीश चेहरा बने तो भाजपा को नुकसान होगा।

ममता ने किया सियासी विरोधियों का कत्लेआम: जार्ज

संसदीय समिति में शामिल पश्चिम बंगाल से भाजपा सांसद जॉर्ज बेकर ने हालिया पंचायत चुनाव में बड़े पैमाने पर हिंसा के लिए सीएम ममता बनर्जी को जिम्मेदार ठहराया। कहा कि बंगाल में कृषि, उद्योग, नौकरियां आदि सब बंद है, मगर सीएम ममता बंगाल में रोहिंग्या मुसलमानों को राजनीतिक संरक्षण दे रही हैं। बेकर ने कहा कि ममता सबसे बड़ी मौकापरस्त है। साथ ही कहा कि बंगाल में लोकतंत्र खत्म हो चुका है और आतंक का राज चल रहा है। 

भाजपा-कांग्रेस से बराबरी दूरी: समल

उड़ीसा में एक बार फिर बीजेडी मुख्यमंत्री नवीन पटनायक की छवि भुनाएगी। पार्टी के जगतसिंहपुर से सांसद कुलामणि समल ने कहा कि पटनायक के नेतृत्व में हर क्षेत्र में तरक्की हुई। उन्होंने केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान पर सियासी हमला बोलते हुए साफ कहा कि भाजपा, कांग्रेस में से दूरी बनाकर बीजेडी चलेगी।

तेलंगाना में किसानों का जीवनस्तर सुधरा: नायक

तेलंगाना में टीआरएस के सांसद प्रो. सीताराम नायक ने कहा कि राज्य में सिंचाई की 50 हजार करोड़ की काणेश्वरम सिंचाई परियोजना से 37 लाख एकड़ भूमि को सिंचाई सुविधा मिली है। किसानों के लिए विशेष कार्यक्रम राज्य में चलाए गए हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि मोदी सरकार ने चार साल में एक भी वादा पूरा नहीं किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

उत्तर प्रदेश सरकार चीनी मिलों को दिलवाएगी 4,000 करोड़ रुपये का सस्ता कर्ज

उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य की चीनी मिलों