विधान परिषद के चुनाव में भाजपा-शिवसेना के बीच कांटे की टक्कर

- in महाराष्ट्र

मुंबई : महाराष्ट्र विधान परिषद की छह में से पांच स्थानीय निकाय सीटों के लिए हुए चुनाव में भाजपा और शिवसेना के बीच कांटे की टक्कर रही. अब तक आए पांच सीटों के परिणाम में दो सीट भाजपा को, दो शिवसेना को और एक सीट एनसीपी को मिली है. उस्मानाबाद-बीड़-लातूर सीट के लिए चुनाव बाद में होंगे. निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि मतगणना सुबह आठ बजे शुरू हुई. विधान परिषद के चुनाव में भाजपा-शिवसेना के बीच कांटे की टक्कर

निर्वाचन आयोग ने बीड जिले में स्थानीय निकायों के कुछ सदस्यों के निलंबन से संबद्ध अदालत के आदेश को देखते हुए उस्मानाबाद – बीड-लातूर सीट के लिये हुए चुनाव की मतगणना प्रक्रिया स्थगित कर दी है. विधानसभा के ऊपरी सदन में राकांपा के तीन, भाजपा के दो और कांग्रेस के एक सदस्य का कार्यकाल 21 जून को समाप्त होने के चलते ये चुनाव हुए. छह सीटों के चुनाव के लिये कम से कम 16 उम्मीदवार मैदान में थे.

78 सदस्यीय विधान परिषद में 23 सीटों के साथ राकांपा सबसे बड़ी पार्टी है, इसके बाद कांग्रेस (19), भाजपा (18) और शिवसेना (नौ) है. जद (यू) और पीडब्ल्यूपी एवं पीपुल्स रिपब्लिकन पार्टी के एक-एक सदस्य हैं जबकि छह निर्दलीय हैं.

विधान परिषद के इन चुनावों में वर्धा-चंद्रपुर-गढ़चिरोली सीट से भाजपा के रामदास अंबाटकर विजयी रहे. उन्होंने कांग्रेस के आईके सराफ को 80 वोट से हराया. वहीं शरद पवार के गढ़ अमरावती में भाजपा के प्रवीण पोटे पाटिल ने जीत हासिल की. यहां भी भाजपा प्रत्याशी ने कांग्रेस के अनिल मधोदरिया को 440 वोटों से हराया.

नासिक विधान परिषद में शिवसेना उम्मीदवार को जीत मिली. यहां शिवसेना के नरेंद्र दराडे ने एनसीपी के शिवाजी शहाणे को 190 वोट से हराया. वहीं प्रभानी-हिंगोली सीट से भी शिवसेना को जीत मिली. यहां शिवसेना के विप्लव बजोरिया ने कांग्रेस के सुरेश देशमुख को 80 वोट से हराया. वहीं रायगढ़ रत्नागिरी सिंधुदुर्ग से एनसीपी के उम्मीदवार अनिकेत तत्कारे ने शिवसेना के राजीव सहेले को 221 वोट से हराया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

महाराष्ट्र में संपन्न हुआ गणेश उत्सव, विसर्जन के दौरान 11 लोग डूबे

मुंबई। महाराष्ट्र में मूर्ति विसर्जन के साथ 11 दिनों