नन यौनशोषण मामले में की जा रही पूछताछ, बिशप ने केरल पुलिस को कराया 4 घंटे इंतजार

- in पंजाब, राज्य

जालंधर। नन यौन शोषण मामले की जांच में जुटी केरल पुलिस की टीम आखिरकार तीसरे दिन बिशप फ्रैंको मुलक्कल से पूछताछ करने बिशप हाउस पहुंची। गत दिवस दोपहर बाद सवा तीन बजे पहुंची टीम को बिशप फ्रैंको ने करीब चार घंटे इंतजार कराया। वे शाम करीब 7:30 बजे अपने समर्थकों के काफिले के साथ पहुंचे।नन यौनशोषण मामले में की जा रही पूछताछ, बिशप ने केरल पुलिस को कराया 4 घंटे इंतजार

कड़ी सुरक्षा में उन्हें बिशप हाउस के अंदर ले जाया गया। देर रात तक उससे पूछताछ जारी थी। इस बीच बिशप की गिरफ्तारी और विरोध की संभावना के मद्देनजर कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंच गई। पूछताछ के बाद केरल पुलिस बिशप फ्रैंको को गिरफ्तार भी कर सकती है। इससे पहले थाना डिवीजन नंबर दो के प्रभारी मनमोहन सिंह और थाना बारादरी के प्रभारी बलवीर सिंह के साथ पहुंची केरल पुलिस की टीम ने बिशप हाउस के कई पादरियों और ननों से पूछताछ कर उनके बयान कलमबद्ध किए।

पुलिस ने सभी रास्ते किए बंद

माहौल बिगड़ने की संभावना के चलते पुलिस ने बिशप हाउस की तरफ आने वाले दोनों रास्तों पर बेरिकेट्स  लगाकर रास्ते बंद कर दिए थे। किसी भी व्यक्ति को अंदर नहीं आने दिया जा रहा था। मीडिया और पुलिस के अलावा जो लोग भी अंदर थे, उन्हें बिशप हाउस से बाहर निकाल दिया गया। देर रात तक पुलिस ने पूरे रास्ते की नाकाबंदी की हुई थी।

यह है मामला

डायोसिस ऑफ जालंधर के बिशप फ्रेंको मुल्लकल पर केरल की एक नन ने 14 बार दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है। प्रकरण 2014-16 के बीच का बताया जा रहा है। बिशप पर केरल के कोट्टायम जिले के वाईकोम थाने में केस दर्ज किया गया है। इसी सिलसिले में केरल पुलिस की एक टीम डीएसपी के सुभाष की अगुआई में तीन दिन पहले मामले की जांच करने जालंधर पहुंची।

गार्ड व बिशप समर्थकों की मीडिया से धक्का-मुक्की, कैमरे तोड़े

बिशप फ्रैंको मुल्लकल के पहुंचने के बाद मीडिया कर्मियों ने जब उनसे बात करने का प्रयास किया तो अंदर करीब 15-20 प्राइवेट सिक्योरिटी गार्ड और बिशप समर्थक मीडिया से हाथापाई करने लगे। इस दौरान केरल से आए मीडिया कर्मियों के कैमरे भी टूट गए। शहर के कुछ पत्रकारों के साथ भी धक्का-मुक्की की गई। बाद में एडीसीपी व थाना 3 के प्रभारी मौके पर पहुंचे और स्थिति संभाली।

यूथ समर्थक पहुंचने से बिगड़ा माहौल

बिशप हाउस में पुलिस और मीडिया के पहुंचने की सूचना मिलने के बाद बिशप के समर्थक इकट्ठा होने शुरू हो गए। रात करीब 9 बजे यूथ समर्थक भी पहुंचना शुरू हो गए। जल्द माहौल गर्मा गया। सूचना मिलते ही थाना डिवीजन नंबर 3 के प्रभारी विजय कुंवर पाल और इंस्पेक्टर बलवीर सिंह मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने वक्त रहते स्थिति संभाल ली वरना मामला गंभीर हो सकता था। रात 11.30 बजे मौके पर एडीसीपी सुडरविली भी पहुंच गईं।

बिशप के वकील बोले- अग्रिम जमानत की जरूरत नहीं थी, इसलिए नहीं ली

इस संबंध में बिशप फ्रैंको मुलक्कल के वकील एडवोकेट मनदीप सचदेवा ने कहा कि मामले में अग्रिम जमानत की जरूरत नहीं थी, इसलिए नहीं ली गई। उन्हें पूछताछ से संबंधित कोर्ट का नोटिस शाम 7 बजे मिला। उसके बाद ही केरल पुलिस ने पूछताछ शुरू की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

सुप्रीम कोर्ट का अयोध्या मामले में इसी हफ्ते आ सकता है ये बड़ा फैसला

अयोध्या राम जन्मभूमि मामले से जुड़े एक अहम केस में