Home > राज्य > बिहार > तेज प्रताप एवं ऐश्वर्या राय की शादी के चर्चे के बीच बिहार की सियासत भी गर्म

तेज प्रताप एवं ऐश्वर्या राय की शादी के चर्चे के बीच बिहार की सियासत भी गर्म

दिल्ली से पटना तक तेज प्रताप एवं ऐश्वर्या राय की शादी के चर्चे के बीच बिहार की सियासत भी गर्म हो गई है। शादी 12 मई को पटना में होनी है, जिसमें विपक्ष के कई बड़े नेता शिरकत करके भाजपा विरोधी एकता का प्रदर्शन कर सकते हैं। दिल्ली में सोमवार को राजद प्रमुख लालू प्रसाद से कांग्र्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मुलाकात से ऐसी संभावनाओं को बल भी मिला है। शादी में करीब पांच हजार लोगों की खातिरदारी की तैयारी है।

तेज प्रताप एवं ऐश्वर्या राय की शादी के चर्चे के बीच बिहार की सियासत भी गर्म

इसके पहले 10 अप्रैल को सोनिया गांधी ने भी फोन करके एम्स में इलाजरत लालू प्रसाद का हालचाल लिया था। उसी दौरान लालू ने उन्हें तेज प्रताप की शादी में आने का न्योता भी दिया था। एम्स में रालोसपा अध्यक्ष एवं केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा एवं भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा समेत कई नेता भी लालू से मुलाकात कर चुके हैं। लालू के सियासी सरोकार के चलते भी कई नेता शादी समारोह में आने से इन्कार नहीं कर सकते हैं।

अफसरों की नजर में ‘गरीब’ हैं साक्षी महाराज, ‘आयुष्मान भारत योजना’ के तहत मिलेगा लाभ

एम्स जाकर लालू से राहुल गांधी की मुलाकात को राजद प्रमुख की सेहत के अतिरिक्त विपक्ष की सियासत की नजरों से भी देखा जा रहा है। अरसे बाद दोनों शीर्ष नेताओं के बीच करीब आधा घंटा बातचीत हुई है, जिसमें सेहत के साथ-साथ राजनीति की बातें भी शामिल हैं। वैसे भी तेज प्रताप की शादी एक राजनीतिक घराने में ही होने जा रही है। ऐसे में दोनों ओर से राजनेताओं का जुटान तय है।

कांग्र्रेस, सपा, बसपा एवं तृणमूल कांग्रेस समेत कई बड़े दलों के नेताओं को न्योता भेजा जा रहा है। मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव तो लालू के रिश्तेदार ही हैं। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भी आने की संभावना है। शरद यादव, कांग्र्रेस के गुलाम नबी आजाद, बिहार कांग्रेस के प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल, झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन एवं झाविमो प्रमुख बाबूलाल मरांडी तो रहेंगे ही।  हालांकि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समेत बिहार के भी पक्ष-विपक्ष के कई प्रमुख नेताओं को न्योता दिया गया है, लेकिन संसदीय चुनाव से महज कुछ महीने पहले होने वाले इस शादी में मुख्य रूप से विपक्ष की एकजुटता की परख भी होगी, क्योंकि दिल्ली में रहते हुए लालू ने इसकी पहल भी कर दी है। तेज प्रताप एवं राज्यसभा सांसद मीसा भारती ने खुद ही कई वीवीआइपी को न्योता दिया है।

लालू के आने पर संशय

तेज प्रताप की शादी में बीमार लालू के शिरकत करने पर संशय है। लालू ने खुद ही पेरोल के लिए इनकार किया है। वह जमानत का इंतजार कर रहे हैं, जिसपर रांची हाईकोर्ट में चार मई को सुनवाई होनी है। अदालत ने लालू की जमानत पर सुनवाई के लिए सीबीआइ से संबंधित दस्तावेज की मांग की है। लालू के वकील ने बताया कि राजद प्रमुख के लिए बेटे की शादी से ज्यादा सेहत पर ध्यान देना जरूरी है। अगर वह स्वस्थ नहीं होंगे तो शादी में नहीं जा सकते हैं।

 
Loading...

Check Also

पंचायत चुनावों के लिए 40 हजार सुरक्षाकर्मी तैयार...

पंचायत चुनावों के लिए 40 हजार सुरक्षाकर्मी तैयार…

आतंकियों की धमकियों और अलगाववादियों के चुनाव बहिष्कार के फरमान के बीच हो रहे पंचायत …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com