Bihar Election Result: बिहार में चला पीएम मोदी का जादू, रुझानों में बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी, NDA बहुमत के पार

पटना। Bihar Election, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार चुनाव के दौरान चार दिनों में कुल 12 रैलियां कीं। उन्होंने 23 अक्टूबर को चुनाव प्रचार अभियान शुरू किया और 3 नवंबर को दूसरे चरण के मतदान के दिन आखिरी रैली को संबोधित किया। उन्होंने 23 अक्टूबर को सासाराम, गया और भागलपुर, 28 अक्टूबर को दरभंगा, मुजफ्फरपुर और पटना, 1 नवंबर को छपरा, पूर्वी चंपारण और समस्तीपुर जबकि 3 नवंबर को पश्चिम चंपारण, सहरसा और फारबिसगंज में चुनावी रैलियों को संबोधित किया था। आइए जानते हैं इन सीटों पर एडनडीए और महागठबंधन में कौन-कहां से आगे है…

पहले चरण में तीनों सीटों पर एनडीए पीछे

सासाराम में आरजेडी को राजेश कुमार गुप्ता आगे हैं जबकि जेडीयू के अशोक कुमार पिछड़ गए हैं।

भागलपुर में कांग्रेस के अजित शर्मा बीजेपी के रोहित पाण्डेय से आगे हैं। दोनों के बीच करीब 2% का मार्जिनल डिफरेंस है।

गया में बीजेपी के प्रेम कुमार कांग्रेस के अखौरी ओंकार नाथ से करीब 6% वोट से आगे हैं।

चुनाव प्रचार का दूसरा चरण

दरभंगा से बीजेपी के संजय सरावगी आरजेडी के अमरनाथ गामी से आगे हैं। दोनों के बीच करीब 4% वोटों का अंतर है।

मुजफ्फरपुर में कांग्रेस के बिजेंद्र चौधरी बीजेपी के सुरेश कुमार शर्मा से आगे हैं। दोनों के बीच 10% वोटों का अंतर है।

पटना साहिब में कांग्रेस के प्रवीण सिंह बीजेपी के नंद किशोर यादव से बहुत आगे निकल चुके हैं। दोनों के बीच करीब 30% वोटों का अंतर है।

फुलवारी में जेडीयू के अरुण मांझी की एकतरफा जीत होती दिख रही है। वहां कांग्रेस कैंडिडेट सुरेंद्र पासवान को 11 बजे क 1% तक भी वोट नहीं मिल पाया था जबकि मांझी के खाते में 45% वोट जा चुके थे। यहां सीपीआई(एमएल) दूसरे नंबर पर है जिसके कैंडिडेट गोपाल रविदास को करीब 31% वोट मिले।

1 नवंबर को छपरा, पूर्वी चंपारण और समस्तीपुर

छपरा में आरजेडी के रंधीर कुमार सिंह ने बीजेपी के डॉ. सीएन गुप्ता पर बढ़त बना रखी है। हालांकि दोनों के बीच 3% से भी कम वोटों का अंतर है।

पूर्वी चंपारण क्षेत्र में आने वाली रक्सौल विधानसभा सीट से बीजेपी के प्रमोद कुमार सिन्हा कांग्रेस के रामबाबू प्रसाद यादव से आगे हैं। यहां स्वतंत्र उम्मीदवार सुरेश कुमार करीब 26% वोट के साथ दूसरे नंबर पर हैं।

समस्तीपुर जिले के कल्याणपुर में जेडीयू के महेश्वर हजारी सबसे आगे हैं। वहां दूसरे नंबर पर सीपीआई(एमएल) के रणजीत कुमार राम जबकि तीसरे नंबर पर एलजेपी के सुंदेश्वर राम हैं। हालांकि, महेश्वर हजारी इन दोनों कैंडिडेट से काफी आगे हैं।

3 नवंबर को पश्चिम चंपारण, सहरसा और फारबिसगंज

प. चंपारण जिले की वाल्मीकि नगर विधानसभा सीट पर जेडीयू कैंडिडेट धीरेंद्र प्रताप सिंह ऊर्फ रिंकू सिंह करीब 50% वोट हासिल कर चुके हैं। वो अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस के राजेश सिंह करीब 25% वोटों के साथ दूसरे नंबर पर हैं।

सहरसा में बीजेपी कैंडिडेट आलोक रंजन के हिस्से 57% से ज्यादा वोट आ चुके हैं जबकि निकटतम प्रतिस्पर्धी आरजेडी की लवली आनंद को करीब 30% वोट मिले हैं।

फारबिसगंज में कांग्रेस के जाकिर हुसैन 49.66% वोट लेकर सबसे आगे हैं जबकि बीजेपी के विद्या सागर केसरी करीब 45% वोट के साथ दूसरे नंबर पर हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button