दिल्ली से पटना लौटे बिहार के CM नीतीश कुमार ने कृषि कानूनों को वापस लिए जाने को लेकर दी ये प्रतिक्रिया

केंद्र सरकार ने शुक्रवार की सुबह तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने का ऐलान कर दिया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने खुद इस बात की घोषणा की और कहा कि हम किसानों को समझा नहीं पाए, इस लिए कानून वापस लिया जाएंगे। किसान घर लौट जाएं। राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार के ऐलान के बाद बिहार में सियासी बयानबाजी तेज हो गई। दिल्ली से पटना लौटे बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मीडिया से बात करते हुए कृषि कानूनों को वापस लिए जाने को लेकर प्रतिक्रिया दी। उत्तर प्रदेश व अन्य राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव को देखते हुए कानून वापस लिए जाने से जुड़े सवाल पर नीतीश ने कहा कि प्रधानमंत्री ने अपनी बात रखते हुए सारी चीजें स्पष्ट कर दी हैं। विपक्ष जो चाहे बोलता रहे। 

नीतीश कुमार ने कहा कि केंद्र सरकार ने तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने के निर्णय पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने स्पष्टता के साथ अपनी बातें रखी हैं। अब इस बोलने का कोई औचित्य नहीं बनता। नीतीश ने कहा कि जिनको फैसला लेने का अधिकार था उन्होंने लिया। आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए फैसला लेने से जुड़े सवाल पर नीतीश ने कहा कि कौन क्या बोलता है इससे फर्क नहीं पड़ता। पीएम ने स्वयं सारी बातें स्पष्ट कर दी हैं। विपक्ष को जितना मन है बोलता रहे। नीतीश कुमार ने जातीय जनगणना पर भी अपनी प्रतिक्रिया दी। कहा कि इस मुद्दे पर हम लोग फिर बैठेंगे और सर्वसम्मति से निर्णय लेंगे। नीतीश ने कहा कि यह बात मैं पहले भी कर चुका हूं और फिर कह रहा हूं। शराबबंदी कानून पर नीतीश ने कहा कि इसको लेकर नए सिरे से जागरूकता अभियान चलाएंगे। उन्होंने कहा कि कुछ लोग शराबबंदी कानून के विरोध कर रहे हैं उन्हें एक प्लेटफॉर्म पर लाने की कोशिश की जाएगी। शराबबंदी कानून का सख्ती से पालन किया जाएगा। 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 × five =

Back to top button