AAP सरकार का बड़ा दावा- दिल्ली में कम होंगे बिजली के दाम, सदन में किया हंगामा

- in दिल्ली, राज्य

नई दिल्ली। दिल्ली विद्युत विनियामक आयोग (डीईआरसी) ने बिजली की नई टैरिफ घोषित कर दी है, जो एक अप्रैल से लागू होगी। आयोग ने बिजली की दरों में कमी करके उपभोक्ताओं को राहत देने की बात कही है, लेकिन स्थायी शुल्क व पेंशन उपकर बढ़ाकर उपभोक्ताओं को झटका दिया है। वहीं, दिल्ली सरकार का दावा है कि इससे बिजली के दाम कम होंगे।

AAP सरकार का बड़ा दावा- दिल्ली में कम होंगे बिजली के दाम, सदन में किया हंगामाबता दें कि अब तक एक किलोवाट लोड वाले घरेलू उपभोक्ता 20 व दो किलोवाट लोड वाले 40 रुपये स्थायी शुल्क देते थे। अब उन्हें 125 रुपये प्रति किलोवाट देने होंगे। अन्य श्रेणी के उपभोक्ताओं को भी ज्यादा स्थायी शुल्क देने होंगे। दिल्ली सरकार सिर्फ बिजली की कीमतों पर सब्सिडी देती है, इसलिए पूरा भार उपभोक्ताओं को ही उठाना होगा।

प्रति माह 200 यूनिट खर्च करने वाले उपभोक्ताओं के लिए एक रुपये प्रति यूनिट जबकि 201-400 यूनिट तक वालों को 1.45 रुपये, 401-800 यूनिट तक खर्च करने वालों को 80 पैसे प्रति यूनिट सस्ती बिजली मिलेगी। डीईआरसी के सदस्य बीपी सिंह ने बताया कि घरेलू उपभोक्ताओं के साथ ही व्यावसायिक और औद्योगिक उपभोक्ताओं, दिल्ली मेट्रो रेल निगम, दिल्ली जल बोर्ड और डायल को भी अधिक स्थायी शुल्क अदा करना होगा।

अगले वित्त वर्ष में भी उपभोक्ताओं को दिल्ली विद्युत बोर्ड के सेवानिवृत्त कर्मचारियों के पेंशन का खर्च उठाना पड़ेगा। अब तक इसके लिए बिजली बिल पर 3.7 फीसद उपकर वसूला जाता था, जो बढ़ाकर 3.8 फीसद किया गया है।

वहीं, बिजली के दामों को लेकर दिल्ली विधानसभा के सदन में जमकर हंगामा हुआ। सत्ता पक्ष ने दावा किया कि उन्होंने चौथे साल में भी बिजली के दाम नहीं बढ़ने दिए हैं। ऊर्जा मंत्री सत्येंद्र जैन ने जब यह कहना शुरू किया कि इस साल बढ़ने की बजाय सभी उपभोक्ताओं के बिजली के दाम कम हुए हैं।

इस पर सदन में मौजूद नेता प्रतिपक्ष विजेंद्र गुप्ता सहित भाजपा विधायक ओम प्रकाश शर्मा, जगदीश प्रधान व भाजपा अकाली विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा ने जमकर हंगामा किया। लगातार हंगामा होने पर विधानसभा अध्यक्ष ने भाजपा विधायक ओम प्रकाश शर्मा को मार्शल बुलाकर सदन से बाहर निकलवा दिया।

ओम प्रकाश शर्मा व भारती के बीच तू तू-मैं मैं

विधानसभा में भाजपा विधायक ओपी शर्मा और सत्ता पक्ष के सोमनाथ भारती के बीच तू तू- मैं मैं हो गई। मामला उस समय बिगड़ा जब सीलिंग के मुद्दे पर ओपी शर्मा बोल रहे थे। शर्मा के अनुसार भारती ने उन्हें चोर कहा। यह भी कहा कि हलवाई की दुकान बंद हो गई क्या। इसपर उन्होंने कहा, चोर तो आप होंगे, आप ने पत्नी पर कुत्ते छोड़े। गुस्से में खड़े सत्ता पक्ष के सदस्यों की ओर देख कर शर्मा ने कहा कि कुश्ती लड़ोगे क्या। लड़ना है तो बाहर चलो।

काली पट्टी बांध जताया विरोध

प्रश्नकाल के दौरान पूछे गए कई प्रश्नों का जवाब नहीं दिए जाने पर विधानसभा अध्यक्ष सहित सत्ता पक्ष के विधायकों ने अधिकारियों को लपेटा। साथ ही काली पट्टी बांधकर अपना विरोध भी जताया।

You may also like

बहराइच: मंत्री लगा रहीं ठुमके, बुखार से बच्चों की मौत का क्रम जारी

बहराइच तथा पास के जिलों में संक्रामक बुखार