क्या आप जानते हैं कि Masturbation के हैं बहुत से फायदे?

- in 18+

हाल ही में रिलीज हुई फिल्म वीरे दी वेडिंग में स्वरा भास्कर ने एक सीन में मास्‍टरबेशन क्या किया, हंगामा मच गया. स्वरा के इस सीन देने के बाद सोसाइटी में जगह-जगह फीमेल मास्‍टरबेशन के लेकर बहस छिड़ी हुई है. कोई इसे गलत बता रहा है तो कोई इसके फायदे गिना रहा है. वैसे मेडिकल एक्सपर्ट मास्‍टरबेशन को फायदेमंद बताते हैं. उनके मुताबिक़ ये एक नेचुरल एक्ट और प्रोसेस है और उसी तरह लिया जाना चाहिए. इससे न केवल शरीर को सेक्सुअल प्लेजर मिलता है बल्कि स्ट्रेस भी दूर हो जाता है. डॉक्टर्स बताते हैं कि फीमेल मास्‍टरबेशन से महिलाओं के लिए कई मायनों में फायदेमंद है.क्या आप जानते हैं कि Masturbation के हैं बहुत से फायदे?

स्ट्रेस फ्री

मास्‍टरबेशन करते समय हार्ट बीट्स बढ़ जाती हैं और इससे ब्लड सर्कुलेशन बाद जाता है. इसके अलावा इस प्रोसेस में मसल्स के सिकुड़ने और फैलने से उनमें सख्ती आ जाती है. इससे बॉडी रिलैक्स्ड और स्ट्रेस फ्री हो जाती है. इसका इफ़ेक्ट वैसा ही होता जैसा पार्टनर के साथ सेक्स के बाद महसूस होता है.

अच्छी नींद मिलती है

जब आप सेक्सुअल एक्ट के दौरान सेक्सुअल क्लाइमेक्स पर होते हैं तो आप फील गुड जोन में पहुंच जाते हैं. इस समय आपको बॉडी से ऑक्सिटॉक्सिन और एंडोर्फिन हॉर्मोन्स रिलीज हो होते हैं. इसलिए मास्‍टरबेशन के बाद भी सेक्सुअल एक्ट की ही तरह अच्‍छा महसूस होता है. बॉडी रिलैक्स्ड और माइंड के टेंशन फ्री होने से शरीर को अच्छी नींद मिलती है.

मेनस्ट्रूअल साइकिल के समय दर्द से राहत

मास्‍टरबेशन से मासिक मेनस्ट्रूअल साइकिल से जुड़ी तकलीफों को दूर करने में मदद मिलती है. मेनस्ट्रूअल साइकिल के दौरान होने वाले दर्द से मास्‍टरबेशन के समय निकले केमिकल और हारमोंस दर्द में राहत देते हैं.

प्रेगनेंसी का कोई खतरा नहीं

मास्‍टरबेशन करने का कोई भी नेगेटिव इफ़ेक्ट बॉडी पर नहीं पड़ता है. मास्‍टरबेशन से नुकसान भी नहीं पहुंचता है. अगर आप मास्‍टरबेशन करती हैं तो आप बीमार भी नहीं पड़ेंगीं और ना ही आपको प्रेगनेंट होने का कोई खतरा रहेगा.

मास्‍टरबेशन एक नेचुरल एक्ट

मास्‍टरबेशन को दुनियाभर में एक आम सेक्सुअल एक्टिविटी की ही तरह देखा जाता है और ये फिजिक्ली, मेंटली और इमोशनली स्ट्रेस फ्री करने वाला प्रोसेस है. बॉडी में ऑर्गैजम के बाद एंडॉरफिंस डोपामाइन और ऑक्सीटोसिन रिलीज होता है जो आपके मूड को अच्छा बनाने में मदद करता है. मास्‍टरबेशन के बाद चरम सुख की प्राप्ति फीमेल्स आराम से और कोमलता से अपने आप को प्लेजर दे लेती हैं. मास्‍टरबेशन के समय अगर फीमेल्स अपनी उंगलियों के अलावा किसी अन्‍य चीज का इस्तेमाल करती हैं तो उनकी यही कोशिश रहती है उसका टच उन्हें भरपूर सेक्सुअल प्लेजर दे.

मास्‍टरबेशन से नहीं होता कैंसर

दुनिया भर में हुए रिसर्च के बाद ये बात भी सामने आई है कि फीमेल मास्‍टरबेशन में सर्वाइकल इन्फेक्शन से रीलिफ मिलता है. मास्‍टरबेशन के जरिए रेग्युलर ऑर्गेजम से ओवरी पर पॉजिटिव इफ़ेक्ट पड़ता है. इसके अलावा अगर पुरुष मास्‍टरबेशन करते हैं तो उनमें भी प्रॉस्टेट कैंसर की आशंका कम हो जाती है. रिसर्च यह भी कहती है कि 18 से ऊपर उम्र की अधिकतर महिलाओं ने कम से कम एक बार मास्‍टरबेशन किया था, लेकिन कुछ महिलाएं इसे नियमित तौर पर करती हैं. जबकि 25 से 29 के बीच 7.9 प्रतिशत महिलाएं एक हफ्ते में 2-3 बार मास्‍टरबेशन करती हैं. वहीं 23.4 प्रतिशत पुरुष एक सप्ताह में 3-4 बार मास्‍टरबेशन करते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

पार्टनर को लाना है करीब तो अपनाएं ये आसान टिप्स

रिश्ते बहुत नाजुक होते हैं। कई बार हम