कोर्ट पहुँची कैप्टन-हुड्डा की लड़ाई, माफी नहीं न मांगने पर मानहानि का केस की चेतावनी

चंडीगढ़। हरियाणा कांग्रेस के प्रवक्ता व पूर्व मंत्री कृष्णमूर्ति हुड्डा ने वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु को लीगल नोटिस भेजा है। पूर्व मंत्री ने नोटिस में कैप्टन से पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा पर लगाए गए आरोपों का आधार पूछा है।कोर्ट पहुँची कैप्टन-हुड्डा की लड़ाई, माफी नहीं न मांगने पर मानहानि का केस की चेतावनी

बता दें कि कैप्टन ने आरोप लगाया था कि आरक्षण आंदोलन के दौरान उनका घर फूंकवाने व परिवार को जान से मारने की साजिश में हुड्डा का हाथ था। कैप्टन का यह बयान आने के बाद हुड्डा ने कहा था कि ऐसे आरोप लगाने वालों को भगवान माफ करे, क्योंकि उन्हें नहीं पता कि वे क्या कह और कर रहे हैैं।

वहीं कृष्णमूर्ति हुड्डा ने नोटिस भेजने के बाद कहा कि कैप्टन अभिमन्यु को 2019 के चुनाव में अपनी हार नजर आ रही है। उससे बचने के लिए कैप्टन ओच्छे हथकंडे अपना रहे हैं। पूर्व मंत्री ने कहा कि अगर कैप्टन 15 दिन में भूपेंद्र सिंह हुड्डा पर अपनी विवादास्पद टिप्पणियों के लिए माफी नहीं मांगते तो उन पर मानहानि का दायर किया जाएगा।

कृष्णमूर्ति ने कहा कि कैप्टन अभिमन्यु की कोठी जलाने में अभियुक्त सुदीप कलकल का कांग्रेस से कोई रिश्ता नहीं है। कैप्टन यह स्पष्ट करें कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने क्या सोच कर सुदीप कलकल को अपने निवास पर भोज में बुलाया हुआ था। सुदीप कलकल का संबंध भाजपा व कैप्टन अभिमन्यु से है। कैप्टन के साथ सुदीप कलकल की फोटो सोशल मीडिया में कई बार वायरल हुई है। कृष्ण मूर्ति हुड्डा ने कहा कि कैप्टन अभिमन्यु मेरे और भूपेंद्र हुड्डा के रिश्तेदार हैं, लेकिन उनकी क्या मजबूरी है कि वह इस रिश्ते को छिपा रहे हैं।

षड्यंत्र रचने वाले कांग्रेस के ही लोग

वहीं, वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु का कहना है कि सीबीआइ की जांच रिपोर्ट और अखबारों में सुर्खियों के आधार पर यह बात सामने आई कि मेरे परिवार को मारने की कोशिश करने वाले और मेरा घर फूंकने वाले कांग्रेसी ही थे। सीबीआइ ने चार्जशीट में जो नए नाम शामिल किए हैं, वह सभी कांग्र्रेस से जुड़े हैं। मुझे अभी कोई नोटिस नहीं मिला। उसे देखने और पढऩे के बाद ही कोई बात की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बहराइच: मंत्री लगा रहीं ठुमके, बुखार से बच्चों की मौत का क्रम जारी

बहराइच तथा पास के जिलों में संक्रामक बुखार