बैंक ऑफ इंडिया ने MCLR को 10 बेसिस प्वाइंट बढ़ाया

- in कारोबार

नई दिल्ली। प्रमुख सरकारी बैंक, बैंक ऑफ इंडिया (बीओआई) ने आज मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड बेस्ड लेंडिंग रेट्स (एमसीएलआर) में 10 बेसिस प्वाइंट का इजाफा किया है। यह इजाफा हर अवधि की मैच्योरिटी पर लागू होगा। बैंक की ओर ये यह कदम ऐसे समय में उठाया गया है जब आरबीआई की ओर से दो दिन पहले ही रेपो रेट में इजाफा किया गया है।बैंक ऑफ इंडिया ने MCLR को 10 बेसिस प्वाइंट बढ़ाया

आरबीआई ने चालू वित्त वर्ष की दूसरी द्वैमासिक मौद्रिक समीक्षा में रेपो रेट को 6 फीसद से बढ़ाकर 6.25 फीसद और रिवर्स रेपो को 5.75 फीसद से बढ़ाकर 6 फीसद कर दिया था। वहीं केंद्रीय बैंक ने FY19 के लिए जीडीपी ग्रोथ अनुमान को 7.4 फीसद पर बरकरार रखा। वहीं अप्रैल-सितंबर अवधि के दौरान जीडीपी के 7.5 से 7.7 फीसद के बीच रहने का अनुमान लगाया गया है। इस एमपीसी के मिनट 20 जून को जारी कर दिए जाएंगे। वहीं अक्टूबर-मार्च के दौरान जीडीपी के 7.3 से 7.4 के बीच रहने का अनुमान लगाया गया है।

बैंक की ओर से जारी किए गए बयान में कहा गया कि बीओआई ने एक साल के टेन्योर के लिए एमसीएलआर को 8.40 फीसद से बढ़ाकर 8.50 फीसद कर दिया है। वहीं एक महीने और तीन महीने की अवधि के लिए एमसीएलआर को संशोधित कर 8.20 और 8.30 फीसद कर दिया गया है। बैंक की नई दरें 10 जून से प्रभावी होंगी। गौरतलब है कि हाल ही में कई अन्य बैंकों की ओर से एमसीएलआर बढ़ाई गई है। इन बैंकों में भारतीय स्टेट बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, एचडीएफसी, कोटक बैंक और आइसीआइसीआइ बैंक शामिल हैं।  

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

EPFO खाताधारकों के लिए बड़ी खुशखबरी: पेंशन बढ़ाकर दूर होगी ब्याज कटौती की नाराजगी

नई दिल्ली : कर्मचारी ‌भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) के