राजस्थान में चांद दिखते ही लोगों ने एक-दूसरे को दी ईद मुबारक की बधाई

- in राजस्थान

जयपुर.चांद दिखाई देते ही हिलाल कमेटी ने शनिवार को ईद-उल-फितर की घोषणा की। मुस्लिम परिवारों में एक-दूसरे को मुबारकबाद देने का सिलसिला सुबह से ही जारी है। इससे पूर्व सेंट्रल हिलाल कमेटी जयपुर की शुक्रवार शाम नमाज-ए-असर के बाद जौहरी बाजार स्थित जमा मस्जिद में बैठक हुई। कमेटी के कन्वीनर चीफ काजी खालिद उस्मानी ने बताया कि (शवाल) ईद के चांद की घोषणा के लिए कमेटी के सभी सदस्य शहर मुफ्ती मोहम्मद जाकिर नोमानी, मुफ्ती जिद उल हसन व जामा मस्जिद के इमाम मुफ्ती सय्यद अमजद अली ने चांद देखा। ईदुलफितर की नमाज ईदगाह में सुबह 8:30 बजे हुई।राजस्थान में चांद दिखते ही लोगों ने एक-दूसरे को दी ईद मुबारक की बधाई

ईदगाह में नमाज का कार्यक्रम

7:50 बजे जनाब मुफ्ती सैय्यद वाजिद उल हसन साहब का बयान 8:00 बजे मौलवी महफूज नासिर साहब का बयान 8:10 बजे ही शहर मुफ्ती मोहम्मद जाकिर नोमानी साहब का बयान। 8:30 बजे चीफ काजी साहब का बयान। 8:40 बजे चीफ काजी द्वारा खुतबा। 8:50 बजे चीफ काजी ने दुआ की।

शिया जामा मस्जिद में 9:30 बजे

अजमेर रोड, कच्चा बंधा स्थित शिया जामा मस्जिद में सुबह 9:30 बजे ईदुल फितर की नमाज हुई। मस्जिद के मुतावल्ली एमएम तकवी ने बताया कि मौलाना सैय्यद नाजिश अकबर काजमी नमाज अदा करवाई। इससे पूर्व शिया ईदगाह, बास बदनपुरा में सुबह 9 बजे मौलाना सैय्यद मुशर्रफ हुसैन जैदी अदा कराई।

बदलता परिवेश : रसोई में अब पकता है शीर खुरमा, कबूली

बदलते परिवेश में अब रसोई में सेवइयों के साथ कई प्रयोग शुरू हो गए हैं। घरों मेंे अब दूध में सैवइयां बनाने की जगह शीर खुरमा, कबूली आदि पकने लगे हैं। ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल बोर्ड की मेम्बर यास्मीन सिद्दकी बताती हैं कि ईद अब सादगी से नहीं मनाई जाती। खूब चहल-पहल रहती है। दूध की सेवइयों की जगह अब शीर खुरमा पकाती हूं। यह ईद की स्पेशल डिश है। यह खीर और खजूर मिलाकर बनाई जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

समान विचार-समान विकास ही प्रदेश की तरक्की का आधार: सीएम राजे

जयपुर। राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने समान विचार-समान