मनोज सिन्हा ने बताया एक शिलान्यास से हजारों लोगों की रोजी-रोटी का इंतजाम

गाजीपुर। रेल राज्यमंत्री व संचार मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) मनोज सिन्हा ने कहा कि सम्राट स्कंदगुप्त के लेख के लिए जाने जाने वाले गाजीपुर के सैदपुर भितरी का नाम एसी विद्युत लोकोशेड बनने के बाद भारतीय रेल में अमर हो जाएगा। पीएम मोदी रेल को सामान्य आदमी के यात्रा का साधन मानते हैं इसलिए रेल पर पर्याप्त धन खर्च किए जा रहे हैं। रेल राज्य मंत्री शनिवार को नगर स्थित सैदपुर भितरी रेलवे स्टेशन पर 100 लोको क्षमता के एसी विद्युत लोकोशेड के शिलान्यास समारोह में बोल रहे थे। कहा कि शुरुआती दौर में यहां 100 लोको का अनुरक्षण किया जाएगा। बाद में इसे 200 लोको क्षमता का बना दिया जाएगा। इसके बनने के बाद आसपास कई छोटे-मोटे कल कारखाने खुलेंगे जिससे हजारों लोगों को आजीविका चलेगी। मनोज सिन्हा ने बताया एक शिलान्यास से हजारों लोगों की रोजी-रोटी का इंतजाम

रेल सुविधाओं पर ज्यादा खर्च

मंत्री ने कहा कि रेल पर पर्याप्त धन खर्च किया जा रहा है। वर्ष 2009 से 2014 तक 47-48 हजार करोड़ रुपये रेल पर खर्च हुए थे। पिछले वर्ष रेल पर 1.30 हजार करोड़ व इस वर्ष 1.48 हजार करोड़ रुपये खर्च किए गए। उन्होंने इसी तरह अन्य क्षेत्रों में हुए खर्च को बताया। कहा कि पीएम मोदी का उद्देश्य है कि 100 प्रतिशत रेल लाइन को का विद्युतीकरण किया जाए। उन्होंने डीआरएम एसके झां से बात करने के बाद करीब 15 जुलाई को गाजीपुर में बने जोनल ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट व गाडिय़ों की धुलाई के लिए बने वाशिंग सेंटर के लोकार्पण की घोषणा की। कहा कि 14 नवंबर 2016 को जिस रेल सह सड़क पुल का शिलान्यास किया था उसका लोकार्पण 14 नवंबर 2019 से पहले बनकर तैयार हो जाएगा। इस रेल सह सड़क पुल का पहला गर्डर 15 दिन बाद रखा जाएगा।

कांग्रेस के कार्यकाल में भी दिया ध्यान 

अपने भाषण में उन्होंने भले ही कांग्रेस के कार्यकाल में पूर्वांचल पर ध्यान न देने की बात कही लेकिन कमलापति त्रिपाठी व कल्पनाथ के समय में कुछ कार्य होने की बात स्वीकार की। कहा कि पीएम मोदी ने न केवल भारतीय राजनीति की शब्दावली बदली है बल्कि कार्य की संस्कृति को भी बदला है। रेल राज्यमंत्री पूर्वोत्तर रेलवे के जीएम अग्रवाल व आरबीएनएल के प्रबंध निदेशक सतीशचंद्र अग्निहोत्री से वार्ता करने के बाद जनता को भरोसा दिया कि 21 माह की बजाय 18 माह में ही इस लोकोशेड को मूर्त रूप प्रदान किया जाएगा। कहा कि औडि़हार में बन रहे डेमू व मेमू शेड का निर्माण भी आगामी चार माह में पूरा हो जाएगा। इस मौके पर विधान परिषद सदस्य विशाल उर्फ चंचल सिंह, शिक्षक एमएलसी चेतनारायण सिंह, डीआरएम एसके झा, ट्रैक्शन रेलवे बोर्ड के सदस्य घनश्याम सिंह आदि मौजूद थे। 

पूर्व एसओ को धमकाया, मुकदमा 

रेल एवं संचार मंत्री का प्रतिनिधि बनकर रेवतीपुर के पूर्व थानाध्यक्ष को एक व्यक्ति ने धमकी भरे अंदाज में वाहन छोड़कर का फरमान जारी कर दिया। एसओ ने आनाकानी की तो उक्त व्यक्ति ने रेल राज्यमंत्री को खुद थाने लाने की बात कही। इस पर थानेदार नरम हुए और वाहन छोडऩे की हामी भर दी। हालांकि बाद में थानाध्यक्ष द्वारा उक्त नंबर की जांच कराई गई तो फर्जी निकला। इस मामले में उन्होंने रेवतीपुर थाने में मोबाइल पर आए नंबर को आधार बनाते हुए मुकदमा दर्ज कराया।

यात्रियों की सुरक्षा रेलवे की प्राथमिकता : मंत्री

केंद्रीय रेल राज्य मंत्री राजेन गोहेन ने कहा कि यात्रियों की सुरक्षा को लेकर रेलवे सजग है। इसलिए ट्रेनों की लेटलतीफी की बजाय अभी सुरक्षा को प्राथमिकता दी जा रही है। धीरे-धीरे ट्रेनों का समय ठीक हो जाएगा। देवरिया रेलवे स्टेशन से जितनी ट्रेनें गुजरती हैं उसको देखते हुए यहां एक से दो और प्लेटफार्म की जरूरत महसूस हो रही है। पूर्वोत्तर रेलवे के एजीएम को इस संबंध में बताया हूं। गोहेन शनिवार की देर रात भाटपाररानी एक निजी कार्यक्रम में जाते समय सदर रेलवे स्टेशन पर संवाददाताओं से बातचीत कर रहे थे। केंद्रीय रेल राज्य मंत्री ने सलेमपुर सांसद रङ्क्षवद्र कुशवाहा द्वारा ट्रेनों के ठहराव की मांग को लेकर धरना देने की बात कहने के सवाल पर कहा कि देश के सभी सांसद अपने क्षेत्र में ट्रेनों के ठहराव की मांग कर रहे हैं। यदि सभी जगहों पर ट्रेनों का ठहराव दिया जाए तो ट्रेनों का फंक्शन बर्बाद हो जाएगा। एक्सप्रेस की क्वालिटी खत्म हो जाएगी। ऐसे में इस पर शोध करना पड़ेगा कि कहां ट्रेनों का ठहराव उचित रहेगा। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

RSS प्रमुख मोहन भागवत ने हिंदुत्व को लेकर कहा- मुस्लिम के बिना अधूरा है हिंदू राष्ट्र

नई दिल्ली। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के संघचालक