यहां बुजुर्गों के लिए हैं स्कूल यूनिफार्म और बस्ता टांगकर जाते है स्कूल

अब जिसने जन्म लिया है उसका बुढ़ापा तो आना ही है। बुढ़ापा लोगों को घरों में कैद कर देता है या फिर अकेलपन की दुनिया में उन्होंने जीना पड़ता है क्यूंकि इस उम्र में उनसे बात करने के लिए कोई नहीं होता है। दोस्त-यार उनके बुजुर्ग हो गए होते हैं तो परिजनों के लिए बोझ लगते हैं। जब इन बुर्जुग लोगों को एक साथ किसी एक जगह पर मिलेंगे का मौका मिले।
यहां खुला बुजुर्गों का स्कूल:
अब शायद आप किसी वृद्धाश्रम के बारे में सोचेंगे पर हम किसी वृद्धाश्रम की बात नहीं कर रहे बल्कि हम बाप कर रहे हैं बुजुर्गों के स्कूल के बारे में जहाँ वो बच्चों की तरह यूनिफार्म और बस्ता टांगकर पाना मन बहलाने के लिए स्कूल जाते हैं।

मां की हाई हील्स से चली गई 6 महीने के बच्चे की जान, वजह जानकर दंग रह गये सब

यूनिफार्म और बस्ता टांगकर जाते है स्कूल:
दरअसल  थाइलैंड के आयुथया प्रांत में एक ऐसा स्कूल है जहाँ पर बुजुर्ग सुर्ख लाल और सफेद रंग की यूनिफॉर्म में पहनकर बच्चों की तरह स्कूल बस से स्कूल में पढ़ने जाते हैं। असल यहाँ इन बुजुर्गों को पढ़ाया नहीं जाता बल्कि उनके अकेलेपन को दूर करने के लिए यह स्कूल शुरू किया गया है।
=>
=>
loading...