Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > उत्तर प्रदेश के नये मुख्य सचिव होंगे अनूप चंद्र पांडेय

उत्तर प्रदेश के नये मुख्य सचिव होंगे अनूप चंद्र पांडेय

लखनऊ। उत्तर प्रदेश शासन ने आज अनूप चंद्र पांडेय को नया मुख्य सचिव नियुक्त कर दिया है। वह अब मुख्य सचिव पद पर रहे राजीव कुमार का स्थान लेंगे। उनकी नियुक्ति को लेकर आदेश भी जारी कर दिया गया है। राजीव कुमार इसी महीने 30 जून को सेवानिवृत्त हो रहे हैं। अनूप चंद पांडे 1984 बैच के आइएएस हैं। वह कई महत्वपूर्ण विभागों में सेवाएं दे चुके हैं। वर्तमान में औद्योगिक विकास आयुक्त हैं। उत्तर प्रदेश के नये मुख्य सचिव होंगे अनूप चंद्र पांडेय

अनूप चंद पांडे ने फरवरी महीने में यूपी में इन्वेस्टर्स समिट के जरिए यूपी में निवेश की संभावनाओं तलाशने का बड़ा आयोजन किया था। समझा जाता है कि योगी सरकार ने अनूप चंद पांडे के कामकाज से प्रभावित होकर यूपी का अगला मुख्य सचिव बनाने का बड़ा फैसला कर लिया है। इस बात पर विश्वास किया जा सकता है कि अनूप चंद पांडे मुख्य सचिव बनाए जाने पर मुहर लग चुकी है। 

मुख्य सचिव के पद पर होंगी अनेक चुनौनियां 

मुख्य सचिव के पद पर अनूप चंद्र पांडेय की तैनाती उनके लिए बड़ी चुनौती भी है। 2019 के लोकसभा चुनाव में वर्ष 2014 की तरह नतीजे पाने की चाहत में भाजपा नेतृत्व कोई कमी नहीं छोडऩा चाहता है। गत चुनावों जैसा प्रदर्शन दोहराने के लिए सरकार को अपना सर्वोत्तम करना होगा। खासतौर से औद्योगिक निवेश के लिए माहौल बेहतर बनाना नए मुख्य सचिव को सबसे जटिल चुनौती होगी। इन्वेस्टर्स मीट में कराए गए 50 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा के एमओयू को जमीन पर उतारना भी पांडेय की परीक्षा होगी।

वहीं केंद्र सरकार की प्राथमिकता वाली योजनाओं को गंभीरता से लागू कराना भी बहुत आसान नहीं है। प्रदेश में नौकरशाही में भीतरखाने अक्सर बने रहने वाले टकराव में विभिन्न विकास योजनाओं को अमलीजामा पहनाना भी चुनौती भरा है। अगले वर्ष होने जा रहे लोकसभा चुनाव से पहले सरकार को अपनी योजनाओं का रिपोर्ट कार्ड लेकर जनता के बीच जाना है। ऐसे में मुख्य सचिव की अहम जिम्मेदारी होगी कि वह रिपोर्ट कार्ड बेहतर बनाने के लिए योजनाओं को तेज गति दें।

वर्तमान पदों का काम भी देखेंगे पांडेय

मुख्य सचिव पद पर अनूप चंद पांडेय का नियुक्ति आदेश 30 जून को दोपहर बाद लागू होगा। पांडेय अपने नए पद के साथ ही वर्तमान के अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त, अपर मुख्य सचिव औद्योगिक विकास व संस्थागत वित्त विभाग तथा अध्यक्ष ग्रेटर नोएडा का कार्यभार भी अगले आदेश तक अतिरिक्त रूप में देखते रहेंगे। 
चंडीगढ़, पंजाब के मूल निवासी पांडेय बीई मैकेनिकल, एमबीए और पीएचडी उपाधि धारक हैं। पांडेय पूर्ववर्ती भाजपा सरकार में तत्कालिक मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के सूचना निदेशक के अलावा प्रमुख सचिव वित्त, प्रमुख सचिव बेसिक शिक्षा व अन्य महत्वपूर्ण पदों पर भी रहे हैं। पांडेय की ताजपोशी का आदेश जारी होने से पहले बुधवार को मुख्य सचिव राजीव कुमार को कैबिनेट की बैठक में विदाई दी गई।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उनके कार्यों की सराहना की। योगी ने कहा कि वह चाहते हैं कि राजीव कुमार की सेवाएं किसी न किसी रूप में प्रदेश को मिलती रहें। मुख्यमंत्री के इस संकेत से माना रहा है कि राजीव कुमार को नयी जिम्मेदारी दी जा सकती है। सूत्र बताते हैं कि मुख्य सलाहकार या रेरा अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी राजीव कुमार को मिल सकती है।

Loading...

Check Also

कांग्रेस प्रत्याशी दिनेश अग्रवाल ने कहा- शिक्षा और राजनीतिक अनुभव मेरी ताकत

कांग्रेस प्रत्याशी दिनेश अग्रवाल ने कहा- शिक्षा और राजनीतिक अनुभव मेरी ताकत

स्थानीय निकाय चुनाव का शोरगुल थम गया है। अब प्रत्याशी मतदाताओं से डोर टू डोर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com