खत्म हुआ अन्ना का चार साल का इंतजार, PM मोदी ने पहली बार दिया खत का जवाब

- in राष्ट्रीय

पिछले 4 साल से वयोवृद्ध समाज सेवी अन्ना हजारे लगातार नरेंद्र मोदी को पत्र लिखते रहे लेकिन 2014 में केंद्र की सत्ता पर काबिज होने वाले प्रधानमंत्री ने उनके किसी भी पत्र का जवाब नहीं दिया था, लेकिन अब प्रधानमंत्री ऑफिस से अन्ना के लिए प्रधानमंत्री मोदी का संदेश आया है.खत्म हुआ अन्ना का चार साल का इंतजार, PM मोदी ने पहली बार दिया खत का जवाब

2014 से लेकर अन्ना ने अब तक प्रधानमंत्री मोदी को 15 खत लिखे और उनके खत लिखने का मुख्य मकसद यह था कि लोकपाल कानून का सही तरीके से कार्यान्वित करवाया जाए, लेकिन इन चार सालों में एक बार भी मोदी ने अन्ना हजारे के खत का जवाब देने की जरूरत नहीं समझी.

मोदी की बेरुखी से नाराज होकर अन्ना हजारे ने इसी साल मार्च में केंद्र सरकार के खिलाफ दिल्ली के रामलीला मैदान पर सशक्त लोकपाल कानून लाने और  किसानों से संबंधित कई मांगों के साथ आंदोलन शुरू किया था. हफ्तेभर चले उनके इस आंदोलन को खत्म कराने के लिए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और कृषि राज्य मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत को आगे आना पड़ा और फिर अन्ना ने अपना अनशन खत्म किया.

फिर दी थी आंदोलन की धमकी

अन्ना ने अपना आंदोलन भी इसी शर्त पर खत्म किया था कि उनकी मांगों के बारे में केंद्र सरकार तुरंत सकारात्मक कदम उठाएंगी. मार्च 30 से अब तक यानि जून महीने के पहले हफ्ते तक केंद्र सरकार से कोई भी सकारत्मक बात नहीं होने के वजह से अन्ना हजारे ने मोदी सरकार को फिर से खत लिख डाला. अपने खत में उन्होंने सरकार को धमकी दी कि वह अक्टूबर से एक बार फिर अनशन शुरू करने वाले हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

#बड़ी खुशखबरी: भारत सरकार की इस नई योजना से जुड़ कर हर महीने कमाए 90 हजार रु

आज से देश भर में आयुष्मान भारत योजना