कुंभ 2019 से पहले अमित शाह करेंगे इलाहाबाद धार्मिक स्थलों का दौरा

इलाहाबाद। कुंभ 2019 से पहले केंद्र व प्रदेश की सत्ता पर काबिज भाजपा अध्यक्ष अमित शाह प्रयाग आ रहे हैं। वह संतों के सानिध्य में पूजा-पाठ में वक्त बिताएंगे। अभी तक उनकी यात्रा को लेकर अधिकृत सूचना नहीं है लेकिन माना जा रहा है कि भाजपा अध्यक्ष कुंभ 2019 की तैयारियों को लेकर संतों से मंत्रणा कर उनकी राय जानेंगे। संत भी अपनी मांगों को उनके समक्ष रखेंगे। इस बीच इलाहाबाद का नाम प्रयागराज रखने के मसले को लेकर अखाड़ा परिषद महंत नरेंद्र गिरी ने सरकार के प्रतिनिधियों से मुलाकात की। उम्मीद है कि शीघ्र ही इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज हो जाएगा।कुंभ 2019 से पहले अमित शाह करेंगे इलाहाबाद धार्मिक स्थलों का दौरा

शाह के समक्ष उठेगी यह मांग

  • कुंभ से पहले इलाहाबाद का नाम प्रयागराज रखा जाए। 
  • अविरल, निर्मल गंगा-यमुना के लिए स्थायी कदम उठाए जाएं।
  • गोहत्या पर देशभर में पाबंदी लगे। 
  • संस्कृत विद्यालयों की मरम्मत व खाली पद भरे जाएं। 
  • अयोध्या स्थित श्रीराम जन्मभूमि में मंदिर निर्माण की पहल तेज हो। 
  • अखाड़ों के आश्रमों में चल रहे स्थायी निर्माण में तेजी लायी जाए। 
  • सौ साल पुराने मंदिरों की मरम्मत कराई जाए। 

कुंभ 2019 को भाजपा सरकार पूरी भव्यता से कराना चाहती है, ताकि देश-विदेश में बेहतर संदेश जा सके। आगामी 27 जुलाई को अमित शाह की प्रयाग यात्रा इसी कवायद का हिस्सा मानी जा रही है। यह संभवत: पहला मौका है जब किसी सत्ताधारी पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष कुंभ की तैयारियों को देखने व संतों से मंत्रणा करने प्रयाग में होगा। अब तक जो जानकारियां सामने आई हैं, उसके अनुसार अमित शाह यमुना बैंक रोड स्थित मौज गिरि मंदिर में शाह योग ध्यान केंद्र का शिलान्यास करने के साथ ही बाबा मौज गिरि घाट का उद्घाटन करेंगे। संतों के साथ भस्म आरती कर संगम पूजन व लेटे हनुमान मंदिर में दर्शन करने जाएंगे। वहां से मठ बाघंबरी गद्दी जाकर अखाड़ा परिषद के पदाधिकारियों के साथ कुंभ की तैयारियों पर मंत्रणा करेंगे। अखाड़ा परिषद अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि बताते हैं कि हम उन्हें (भाजपाध्यक्ष को) कुंभ को लेकर अपनी मांगों से अवगत कराएंगे।

चखेंगे आठ मेवा की खीर

अमित शाह प्रयाग में शुद्ध व सात्विक भोजन करेंगे। मठ बाघंबरी गद्दी में उन्हें आठ मेवा की खीर परोसी जाएगी। गाय के दूध से बनी खीर में काजू, बादाम, गरी, चिरौंजी, मखाना, छुहारा, मुनक्का, किसमिस डाला जाएगा। मटर-पनीर, लौकी, नेनुआ, तरोई, भिंडी की सब्जी, अरहर, मसूर की दाल परोसी जाएगी। सब्जियां बिना लहसुन व प्याज के बनेंगी। देशी आम का पना विशेष रूप से बनवाया जाएगा। 

कुंभ से पहले प्रयागराज होगा इलाहाबाद

इलाहाबाद का नाम प्रयागराज रखने को लेकर रविवार को अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी ने उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, डॉ. दिनेश शर्मा, नगर विकास मंत्री सुरेश कुमार खन्ना, विधि मंत्री बृजेश पाठक से मुलाकात की। नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना ने उन्हें आश्वासन दिया कि इलाहाबाद का नाम प्रयागराज रखने की दिशा में कार्यवाही की जा रही है। कुंभ से पहले इस बारे में फैसला ले लिया जाएगा। अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरि इन मसलों पर मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी से पहले ही मिल चुके हैं। रविवार को वह विशेष रूप से उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और नगर विकास व संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना से मिले। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

पेट्रोल की बढ़ी कीमतों को लेकर पैदल मार्च कर रहे कांग्रेसी आपस में भिड़े

कानपुर : डीजल, पेट्रोल और रसोई गैस की