अमरेन्द्र सरकार ने VVIP कल्चर खत्म करने वाली योजना पर चलाई कैंची

- in पंजाब

जालंधर : मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार ने वी.वी.आई.पी. कल्चर खत्म करने के लिए अतिरिक्त सुरक्षा प्रदत्त नेताओं व अन्य लोगों पर कैंची चला दी है। मुख्यमंत्री ने पिछले दिनों डी.जी.पी. सुरेश अरोड़ा व मुख्य सचिव कर्ण अवतार सिंह के नेतृत्व में एक उच्चस्तरीय कमेटी गठित की थी जिसमें ए.डी.जी.पी. सुरक्षा आर.एन. ढोके व अन्य इंटैलीजैंस अधिकारी भी शामिल किए गए थे।अमरेन्द्र सरकार ने VVIP कल्चर खत्म करने वाली योजना पर चलाई कैंची

पंजाब सरकार ने एक बड़ा फैसला लेते हुए 283 वी.आई.पीज को दिए गए 428 सुरक्षा कर्मचारी वापस ले लिए हैं। सूची में अकाली दल, भाजपा, शिवसेना नेताओं के अलावा कुछ उद्यमियों व कुछ कांग्रेसी नेताओं के नाम भी शामिल हैं। इन सभी सुरक्षा कर्मचारियों को तुरंत संबंधित बटालियनों मेें रिपोर्ट करने के लिए आदेश जारी किए गए हैं। सरकारी हलकों ने बताया कि उच्चस्तरीय कमेटी ने लगातार 3-4 बार अपनी बैठकें कीं जिसमें वी.आई.पी. कल्चर को खत्म करने के विषय पर गम्भीरता से विचार-विमर्श किया गया। बताया जाता है कि उच्चस्तरीय कमेटी ने अपनी रिपोर्ट मुख्यमंत्री को सौंप दी है। कमेटी का मानना था कि जिन लोगों को अतिरिक्त सुरक्षा मिली हुई है परंतु अब उनकी सुरक्षा को खतरा नहीं है, जिसके बाद सुरक्षा कटौती को लेकर उक्त कदम उठाया गया है। कई सेवानिवृत्त पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों से भी सुरक्षा को वापस लिया गया है।

पंजाब पुलिस में जिन पूर्व मंत्रियों की सुरक्षा में कटौती की गई है, उनमें मदन मोहन मित्तल, गुलजार सिंह रनीके, जनमेजा सिंह सेखों, सोहन सिंह ठंडल, मनोरंजन कालिया, पूर्व मुख्य संसदीय सचिव फरजाना आलम, मौलाना हबीबुर, साही इमाम लुधियाना, अविनाश चंद्र, पूर्व विधायक दर्शन सिंह शिवालिक, जोङ्क्षगद्र पाल जैन, शेख सतपाल के अलावा कांग्रेस के पूर्व मंत्री अवतार हैनरी, अमरजीत सिंह समरा, तेजिंद्र बिट्टू, हरजिंद्र सिंह ठेकेदार, मनीशा गुलाटी, जगमोहन सिंह कंग, वरिंद्र सिंह ढिल्लों, जी.एस. बाली, इंद्रजीत सिंह जीरा, कांग्रेस नेता कुशबाज सिंह जटाना आदि शामिल हैं। इनके अलावा जिन मौजूदा अधिकारियों की सुरक्षा में कटौती की गई है, उनमें रणदीप सिंह (कमांडैंट), सुखदेव सिंह (एस.पी.), भूपिंद्र सिंह (कमांडैंट), गुरतेजिंद्र सिंह औलख (कमांडैंट), कुलविंद्र सिंह (कमांडैंट), शमिंद्र सिंह सिद्धू (कमांडैंट), गुरप्रीत सिंह (कमांडैंट), हरकंवलप्रीत सिंह खॅख (कमांडैंट), जङ्क्षतद्र सिंह बेनीपाल (कमांडैंट) आदि शामिल हैं।

किन नेताओं से कितने सुरक्षा कर्मी लिए वापस 

बिक्रम सिंह मजीठिया 11
आदेश प्रताप सिंह कैरों 5
चरणजीत सिंह अटवाल 5
बलराम जी दास टंडन राज्यपाल छत्तीसगढ़ 3
जस्टिस जोरा सिंह 3
बीबी जागीर कौर 2
भुपिंद्र सिंह खटड़ा 5
परमपाल सिद्धू (पूर्व आई.पी.एस.) 4
कृष्ण शर्मा शिवसेना नेता 3
बाबा अर्जुन सिंह 5
-बाबा लक्खा सिंह 3
मोहिंद्र कौर (पूर्व विधायक) 4
गोबिंद सिंकृपाल सिंह बडूंगरह लौंगोवाल 2
कृपाल सिंह बडूंगर 2

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

चंडीगढ़ पर कम किया जा रहा पंजाब का हक, कैडर मुद्दे पर लिखी राजनाथ को चिट्ठी: कैप्टन

चंडीगढ़। पंजाब ने एक बार फिर चंडीगढ़ में